शारीरिक

बक्सर:अक्षयकाशाब्दिकअर्थहै-जिसकाकभीनाशयानीक्षयनहो।आचार्योंकेमुताबिकअक्षयतृतीयाकोस्नान-दान,जप-तप,हवनादिकर्मोंकाशुभऔरअनन्तफलमिलताहै।इससालअक्षयतृतीयाकलयानीरविवारकोहै।

आचार्य(प्रो.)मुक्तेश्वरनाथशास्त्रीनेबतायाकिशनिवारकोदिनमें10बजकर19मिनटपरहीतृतीयातिथिप्रारंभहोजारहीहैऔररोहिणीनक्षत्रकाआगमनभीरात7बजकर32मिनटपरहोजारहाहै।परन्तु,अगलेदिनरविवारकोरात्रि8बजकर54मिनटतकतथाअक्षयतृतीयादिनके11बजकर14मिनटतकभोगकररहीहै।अत:विद्वानोंकामतहैकीअक्षयतृतीयामेंदानादिकाकार्यउदयातिथिमेंरविवारकोकरनाहीसर्वश्रेष्ठऔरलाभकारीहोगा।इसीदिनकृषिकामुहूर्तसमहुतकरनाफलदायीहोगा।

आगामीफसलकेलिएकिसानकरेंगेभूमिपूजन

मान्यताकेअनुसारजिलेकेकिसानअक्षयतृतीयापरभूमिपूजनकरेंगे।पुरैनियाकेकिसानवीरेंद्रतिवारी,बराढ़ीकेरामकुमारपांडेय,कोंच-बकसड़ाकेबांकेबिहारीमिश्र,नावानगरकेरविन्द्रदुबे,बिहपुरकेविजयशंकरपांडेयआदिनेबतायाकिआगामीफसलकेलिएरीति-रिवाजकेअनुरूपखेतमेंइसदिनवेअक्षत,गुड़,दही,अयपन,आमवपरासकापत्ता,धानआदिसेभूमिपूजनकरेंगे।इसकेउपरांतघरवापसआनेपरप्रसादकेरूपमेंमीठाकापारणकरेंगे।वहीं,रातकीरसोईमेंभीमीठापकवानआदिबनाकरग्रहणकरेंगे।दूसरीओर,आचार्यनेबतायाकिइसबारअगलीफसलकेलिएउत्तमउत्पादनकायोगहै।

आजप्रदोषसमयमेंमनेगीपरशुरामजयंती

अक्षयतृतीयाकेप्रदोषसमयमेंपरशुरामजयंतीमनानेकाप्रावधानहै।अत:अक्षयतृतीयातिथिमेंहोनेवालीपरशुरामजयंतीशनिवारकीशामप्रदोषसमयमेंहीमनाईजाएगी।वैसेतोअक्षयतृतीयापरविवाह,गृहप्रवेशऔरसभीतरहकेमांगलिककार्यआरंभकरनेसेशुभफलकीप्राप्तिहोतीहै।वहीं,इसदिनसोना-चांदीखरीदनाऔरकृषियंत्रएवंजमीन-जायदादकासौदाकरनाभीशुभमानाजाताहै।हालांकि,लॉकडाउनकेकारणआभूषणदुकानबंदहैंऔरकृषियंत्रोंकेदुकानभीनहींखुलरहेहैं।ऐसेमेंइसपरंपराकानिर्वहनशायदइसबारनहोसके।

By Cooper