शारीरिक शिक्षा

संवादसहयोगी,गरमपानी(नैनीताल):कोरोनासंकटकेचलतेलॉकडाउनमेंहुएकिसानोंकोनुकसानतथाअबबारिशनाहोनेसेखेतीचौपटहोचुकीहै।किसानोंकोमुआवजेकेसाथहीबैंकोंकाऋणमाफकिएजानेकीभीमांगउठनेलगीहै।लॉकडाउनकेवक्तकाश्तकारोंकीकाफीउपजखेतोंमेंहीसड़करबर्बादहोगई।सबकुछठीकहोनेकीउम्मीदमेंकिसानोंनेवापसखेतोंकोरुखकियाऔरतोड़मेहनतभीकीपरबारिशनहोनेसेकिसानोंकोफिरमायूसहोनापड़ा।

मटरकामहंगाबीजलाकरकिसानोंनेबुवाईकीतैयारीभीकीपरबारिशकेइंतजारमेंमटरकीबुवाईनाहोसकी।जिससेकिसानोंकोकाफीनुकसानउठानापड़ाकईकिसानबैंकोपरआधारितहैऋणलेकरखेतीकिसानीकरतेहैंपरलगातारहोरहेनुकसानसेकिसानोंकोब्याजपरब्याजदेनापड़रहाहै।उपजकेनाहोनेसेकिसानोंकोआर्थिकनुकसानभीउठानापड़रहाहैजिससेपारिवारिकस्थितिभीबिगड़तीजारहीहै।

कुछगांवोंमेंउपजकीपैदावारहोभीरहीहैतोजंगलीजानवरसबकुछचौपटकरदेरहेहैं।बेतालघाटब्लॉककेबजेडी़,धनियाकोट,सिमलखा,सिल्टोना,बारगल,कफुल्टातथाताड़ीखेतब्लॉककेमंडलकोट,टूनाकोट,चापड़,सुखोली,लछीना,मनारीआदितमामगांवोंमेंकिसानोंकोपिछलेदसमहीनोंमेंभारीनुकसानउठानापड़ाहै।नवचेतनामंचकेमहेंद्रसिंहबिष्ट,बिशनजंतवाल,राजेंद्रसिंह,अभयसाह,हेमंततिवारी,हेमंतबिष्ट,रमेशनाथआदिलोगोंनेकिसानोंकोउचितमुआवजादिएजानेकेसाथहीबैंकोंकाऋणमाफकिएजानेकीमांगउठाईहै।

By Dale