शारीरिक शिक्षा

बाराबंकी:विद्याभारतीकेप्रदेशनिरीक्षकराजेन्द्रबाबूनेकहाकिकिशोरवैज्ञानिकभावीभारतकेकर्णधारबनेंगे।समाजमेअपनेइर्द-गिर्दहोनेवालीघटनाओंपरपैनीनजररखकरउसकारचनात्मकसमाधानढूंढनाहीवैज्ञानिकखोजकाआधारबनताहै।प्रदेशनिरीक्षकशनिवारकोसरस्वतीशिशुमन्दिरइंटरकॉलेजमेंआयोजितप्रांतीयविज्ञानमेलाकेउद्घाटनसत्रकोसंबोधितकररहेथे।उन्होंनेविजेताओंकोप्रमाणपत्रदेकरसम्मानितभीकिया।विज्ञानमेलामेंविद्याभारतीकेअवधप्रान्तकेसभी12जिलोंसेविद्यार्थीप्रतिभागकररहेथे।तीनसत्रोंमेंआयोजितप्रदर्शनीमेंप्रश्नमंच,पत्रवाचनएवंप्रयोगआधारितप्रतियोगिताएंआयोजितहुईं,जिसमेकक्षा9एवं10केविद्यार्थियोंनेहिस्सालिया।विज्ञानआधारितप्रयोगमेंलखनऊकीतीव्रतावर्माप्रथम,उन्नावकेविन्देशनिषादद्वितीयएवंअंबेडकरनगरकीवैष्णवीपांडेयतृतीयजबकिपत्रवाचनमेंउन्नावकीखुशीकश्यपप्रथम,लखनऊकीशियलसिंहद्वितीयएवंसीतापुरकीशगुनशुक्लातृतीयस्थानपररहीं।प्रश्नमंचमेंलखीमपुरकीटीमकेशशिकांत,अस्मितवअनिकेतप्रथम,रायबरेलीकेअर्पित,सुशांतवआनंदपटेलद्वितीयएवंउन्नावकेचेतनदीक्षित,रोहितकनौजियाववंशराजमिश्रतृतीयस्थानपररहे।इसकेपूर्वदीपप्रज्ज्वलनकरकेप्रदर्शनीकीशुरुआतहुई।एसडीएमपंकजसिंहएवंसीओयोगेन्द्रकुमारनेविज्ञानमेलामेंकिशोरवैज्ञानिकोंकाहौसलाबढ़ाया।प्रधानाचार्यदेवेंद्रकुमारशुक्लानेसभीअतिथियोंकोअंगवस्त्रदेकरस्वागतकिया।संचालनआचार्यवीरेंद्रशर्मानेकिया।इसअवसरपररामकृपालपांडेय,राजेन्द्रसिंह,दिनेशचंद्रपांडेय,अंशुमानमिश्रा,प्रभारीनिरीक्षकसंजयमौर्य,रूपेश,आनन्दसिंह,विपुलशर्मा,प्रवेशआदिमौजूदरहे।

By Dale