शारीरिक शिक्षा

जागरणसंवाददाता,फतेहाबाद:प्रत्येकव्यक्तिकोअपनेजीवनमेंगरीबवअसहायलोगोंकीअपनेजीवनमेंकमाएहुएधनसेमददकरनीचाहिए।इससेस्वयंकोसंतुष्टिमिलतीहैवहीउसव्यक्तिकाउसकाधनमान-सम्मानभीबढ़ताहैयहबातफतेहाबादकेवरिष्ठचिकित्सकसर्जनएवंजजपानेताडा.वीरेंद्रसिंहसिवाचनेगतदिवसहरनामकालोनीमेंआयोजितदोकन्याओंकीशादीमेंअपनीओरसेआर्थिकसहयोगदेतेहुएउपस्थितलोगोंसेकहेकहींउन्होंनेकहाकिजोव्यक्तिअपनेकमाएहुएधनसेकिसीप्रकारकासमाजहितमेंलगाताहैंउसेकिसीभीमंदिरमस्जिदयापूजापाठकरनेकीजरूरतनहींहोतीऐसेव्यक्तिकासमाजमेंसम्मानभीबढ़ताहैइसलिएहरव्यक्तिकोसमाजमेंकुछनाकुछअच्छाकार्यकरनेमेंसहयोगदेनाचाहिएयहसहयोगकेवलमात्रपैसेयाधनहीनहींबल्किकिसीभीतरीकेसेभीदियाजासकताहैइससेआपसमेंसमाजमेंभाईचारावएकताकोबढ़ावामिलताहैसामाजिककार्योंमेंचाहेवहविवाहशादीहोजाएअन्यकार्यहो।उसमेंव्यक्तिकोबढ़-चढ़करभागलेनाचाहिए।इसमौकेपरउनकेसाथराजीवअहलावत,जिलाअध्यक्षखेलप्रकोष्ठजेजेपीभीमवर्मा,अशोकसुथार,जयप्रकाशजांगड़ा,फकीरचंदजांगड़ा,प्रधानसुल्तानभाट,प्रेमकुमार,सावित्रीदेवी,पूजादेवी,विनोदकुमारआदिमौजूदथे।

By Cooke