शारीरिक शिक्षा

देशमेंकोईभीप्राकृतिकआपदाआतीहैतोसबसेपहलेएनडीआरएफसेसहायतामांगीजातीहै.रेस्क्यूऑपरेशनमेंभीवेएकसक्रियभूमिकानिभातेहैंऔरउन्हींकेबेहतरीनकामकीवजहसेकईलोगोंकीजानबचपातीहै.अबजबदेशइससमयकोरोनाकीदूसरीलहरसेलड़रहाहै,ऐसेमुश्किलसमयमेंभीएनडीआरफकीतरफसेकाफीमददकीजारहीहै.उनकीवजहसेकईअस्पतालोंतकसमयरहतेऑक्सीजनप्लांटपहुंचरहेहैं.

कोरोनाकीलड़ाईमेंNDRFकीभूमिका

जानकारीमिलीहैकिकमलानेहरूनगरस्थित8वींबटालियनएनडीआरएफकीतरफसेकोरोनाकालमेंएकसक्रियभूमिकानिभाईजारहीहै.दरअसल,कोरोनावायरसकेबदलेस्वरूपसेउत्पन्नहुईसकंटकीघड़ीमेंभारतकोपूरीदुनियासेमददमिलरहीहै.बड़ीसंख्यामेंमेडिकलऑक्सीजनप्लांटऔरदूसरीवस्तुपहुंचाईजारहीहैं.ऐसेमेंएनडीआरएफद्वाराइनऑक्सीजनप्लांटोंकोएयरपोर्टपरलोडिंगऔरअनलोडिंगसेलेकरगन्तव्यस्थानोंपरजहांइन्हेंस्थापितकिएजाने तकसुरक्षितपहुंचनेकाकार्यकियाजारहाहै.वहींइनप्लांटोंकेइंस्टालेशनमेंभीएनडीआरएफद्वाराआवश्यकसहायताप्रदानकीजारहीहै.

क्लिककरें- दिल्ली:परिवारसमेतअंडरग्राउंडहुआ'सांसोंकासौदागर'नवनीतकालरा,लंदनतकजुड़ेतार

ऑक्सीजनसप्लाईमेंबड़ीभूमिका

बतायागयाहैकिएनडीआरएफद्वाराचारऑक्सीजनप्लांटमेंसेदोप्लांटइटलीऔरआयरलैंडसेप्राप्तहुएहैंजिन्हेंआईटीबीपीद्वारासंचालितरेफरलअस्पतालग्रेटरनोएडामेंऔरदूसरेकोईएसआईसीअस्पतालफरीदाबादमेंस्थापितकरवायाजाचुकाहै.वहींजर्मनीसेप्राप्तहुएऑक्सीजनप्लांटकोडीआरडीओअस्पतालनईदिल्लीऔरअमेरिकासेप्राप्तऑक्सीजनप्लांटकोईएसआईसीझिलमिलईस्टदिल्लीमेंस्थापितकरवायाजारहाहै.एनडीआरएफकीवजहसेहीसमयभीबचरहाहैऔरसमयरहतेऑक्सीजनकीआपूर्तिभीहोतीदिखरहीहै.

कोरोनाकीलड़ाईहुई आसान

आठवींबटालियनकमांडेंटप्रवीणकुमारतिवारीनेबताया कि8मईकोइजरायलसेतीनऑक्सीजनप्लांटजिनकीक्षमता500लीटरप्रतिमिनटहैंकोवायुमार्गसेगाजियाबादलायागयाहै.इनमेंसेएकऑक्सजीनप्लांटलालबहादुरशास्त्रीअस्पतालवाराणसीकेलिएएनडीआरएफटीमद्वारासड़कमार्गसेलेजायाजारहाहै,वहींदोअन्यप्लांटकर्नाटकराज्यकेकोलारऔरमैसूरजिलेकेलिएवायुमार्गसेभिजवाएजारहेहैं.

कोरोनाकीस्थितिअभीभीविस्फोटकबनीहुईहै,ऐसेमेंNDRFकीयेमददअभीलंबेसमयतकमिलनेवालीहै.उनकायोगदानहीकोरोनाकेखिलाफइसलड़ाईकोआसानऔरकारगरबनारहाहै.