शारीरिक शिक्षा

भरमौर,संवादसहयोगी।KugtiKartikSwamiTemple,भरमौरकेकुगतीमेंकार्तिकस्वामीमंदिरकेकपाट136दिनबादआज14अप्रैलकोबैसाखीकेदिनखुलगए।मंदिरकेकपाट30नवंबरकोबंदकरदिएथे।बैसाखीकेदिनलोगोंकोभगवानकार्तिककेदर्शनकिए।भगवानकार्तिकस्‍वामीकेजयकारोंसेकुगतीक्षेत्रगूंजउठा।सैकड़ोंश्रद्धालुकुगतीपहुंचेहैं।कार्तिकस्‍वामीगद्दीसमुदायकेलोगोंकेअराध्‍यदेवताहैं।मंदिरकेकपाटखुलनेकालोगोंकोअरसेसेइंतजाररहताहै।

हिमाचलकेजिलाचंबाकेजनजातीयइलाकेभरमौरमेंआजभीलोगविज्ञानपरभरोसाकरनेकेबजायदेवताओंकीशरणमेंजातेहैं।देवतासालभरकेमौसमकीभविष्यवाणीकरतेहैं।लोगभीइसेमानतेहैंऔरउसीअनुरूपफसलोंकीदेखरेखऔरजीवनयापनकरतेहैं।ऐसासदियोंसेचलाआरहाहै।कबायलीक्षेत्रभरमौरकेकुगतीमेंउत्तरभारतकाप्रसिद्धशिवपुत्रकार्तिकदेवकामंदिरहै।हरसाल30नवंबरकोकार्तिकस्वामीमंदिरकेकपाटबंदहोजातेहैं।कपाटबंदकरनेसेपहलेमंदिरकेगर्भगृहमेंमूर्तिकेसामनेपानीसेभरीएकगड़वी(कलश)कोरखाजाताहै।इसबारभीऐसाहीकियागया।

अगरकलशआधाभरामिलातोकमबारिशकीसंभावनारहतीहैऔरकलशमेंपानीपूरासूखगयाहोतोअकालजैसीस्थितिइलाकेमेंआनेकीसंभावनारहतीहै।सदियोंसेयहपरंपराचलीआरहीहै।कईबारऐसाहुआकिकलशमेंएकबूंदपानीकीकमनहींहुईहै।कुछेकबारपानीखत्मभीमिलातोज्यादातरसामान्यरहताहै।कार्तिकस्वामीकेप्रतिलोगोंकीगहरीआस्थाहै।लोगअपनाजीवनयापनउसीअनुरूपकरतेहैं।

बर्फबारीपरस्वर्गलोकचलेजातेहैंदेवता

मंदिरकेपुजारीनेबतायामान्यताहैकिदेवभूमिपरप्रकृतिबर्फकीचादरओढ़करसुप्तअवस्थामेंचलीजातीहै।देवताभीस्वर्गलोककीओरप्रस्थानकरजातेहैं।इसअवधिकेबीचमंदिरकीतरफरुखकरनेवालोंकेसाथअनहोनीकीभीआशंकाबनीरहतीहै।इसलिएमंदिरमेंनदर्शनहोतेहैंऔरनहीपूजा-पाठ।मंदिरमेंरखेकलशकेप्रतिलोगोंकीगहरीआस्थाहै।

सातकिलोमीटरपैदलसफरकरपहुंचतेहैंमंदिरतक

जिलामुख्यालयचंबासेबसकेमाध्यमसे76किलोमीटरसफरकरकुगतीपहुंचाजासकताहै।कुगतीसेआगेसातकिलोमीटरपैदलचलकरमंदिरआताहै।कईश्रद्धालुपैदललाहुल-स्पीतिसेकुगतीजोतपारकरमंदिरतकपहुंचतेहैं।

By Cook