शारीरिक

संवाददाता,डुमरांव(बक्सर):कोरोनावायरसकाअसरहरक्षेत्रपरदिखाईपड़रहाहै।अन्नदाताभीइससेअछूतेनहींहैं।लॉकडाउनसेकिसानोंकीमुसीबतबढ़गईहै।किसानोंद्वाराउत्पादितधानअभीढंगसेबिकाभीनहींकिगेहूंकीकटनीशुरूहोगई।अन्नदाताओंकाघरअन्नसेभरतोरहा,लेकिनइसेबेचनेकासंकटहै।बिक्रीनहींहुईतोआíथकस्थितिचरमराजाएगी,क्योंकिइसीपरसबकुछनिर्भरहै।किसानएकपखवारेसेखलिहानमेंगेहूंकीरखवालीकररहेहैं।लेकिन,फसलकीबिक्रीकरनाचुनौतीबनीहै।अभीतकसभीक्रयकेंद्रोंपरव्यवस्थाअधूरीहैं।किसानकहांऔरकैसेअपनीफसलकोबेचें,यहबड़ासंकटबनाहै।हालतयहहैकिक्रयकेंद्रोंपरकांटा,बाट,बारदानातककीव्यवस्थानहींहुईहै।ट्रांसपोर्टव्यवस्थाभीअधरमेंलटकीहै।अभीतकअनुमंडलइलाकेकेकिसीभीपैक्सोंमेंगेहूंक्रयकरनेकीप्रक्रियाशुरूनहींहुई।कुछकिसानतोअपनीजरूरतोंकोपूराकरनेकेलिएकममूल्योंपरहीअनाजउत्पादनबेचरहेहैं।वहीं,कभी-कभारमौसमखराबहोनेसेकिसानचितितहोजातेहैं।अगरथोड़ीभीबारिशहोतीहैंतोनुकसानकेअलावाकुछहाथनहींलगेगा।

-कहतेहैंकिसानचौगाईंकेकिसानसीतारामसिंहनेबतायाकिहाड़-तोड़मेहनतकेबादगेहूंकाउत्पादनहुआ।लेकिन,खरीदारनहींहोनेसेबेचैनीबढ़नेलगीहै।पारिवारिकजरूरतोंकेमद्देनजरकममूल्योंपरअनाजबेचनामजबूरीहै।ठोरीपांडेयपुरकेशिवकुमारसाहुनेबतायाकिसेठ-साहुकारोंसेकर्जलेकरइससाल17बीघाखेतमेंगेहूंकीखेतीकिए।लेकिन,उत्पादनबेचनेकासमयआयातोलॉकडाउनऔरक्रयकेन्द्रनहींखुलनेसेपन्द्रहदिनोंसेखलिहानमेंगेहूंकीरखवालीकररहेहैं।किसानमहेन्द्रतिवारी18बीघाखेतकाउत्पादितगेहूंघरमेंरखकरक्रयकेन्द्रखुलनेकाइंतजारकररहेहैं।मर्सिहयॉकेपैक्सध्यक्षसत्यदेवओझानेबतायाकिअभी30अप्रैलतकतोधानअधिप्राप्तिकरनेकानिर्देशहै।गेहूंक्रयमामलेमेंअबसुगबुगाहटशुरूहै।लेकिन,अभीतकगोदामधानसेभराहै।ऐसेमेंगेहूंक्रयकैसेहोगा।

By Cooper