शारीरिक शिक्षा

जागरणसंवाददाता,लुधियाना।पिछलेलंबेअर्सेसेदेशमेंस्टीलएंवकाटनकेदामआसमानछूरहेहैं।इससेउपभोक्ताउद्योगकीदिक्कतेंलगातारबढ़रहीहैं।खासकरमाइक्रोस्मालएंडमीडियमएंटरप्राइजेज(एमएसएमई)सेक्टरकीइंडस्ट्रीमौजूदापरिस्थितियोंकोपारनहींकरपारहीहैऔरबाजारसेआउटहोरहीहै।कच्चेमालकीकीमतोंकोनियंत्रणमेंकरनेकेलिएलुधियानाहैंडटूल्सएसोसिएशननेप्रधानमंत्रीनरेन्द्रमोदी,वाणिज्यमंत्रीपीयूषगोयलएवंपरिवहनमंत्रीनितिनगडकरीकोट्वीटकरकेदेशसेस्टीलउत्पादएवंकाटनकेनिर्यातपरप्रतिबंधलगानेकीमांगकीहै।

एसोसिएशनकेप्रधानएससीरल्हननेट्वीटमेंलिखाहैकिएकछोटादेशइंडोनेशियाविश्वकाअग्रणीपामआयलनिर्यातकहै,लेकिनपामआयलकेरेटबढ़नेकेकारणइंडोनेशियानेइसकेनिर्यातपरप्रतिबंधलगादिया,ताकिघरेलूबाजारमेंकीमतेंनियंत्रणमेंरहें।भारतमेंस्टीलएवंकाटनकेदामआसमानछूरहेहैं।घरेलूउद्योगोंमेंत्रहिमाममचाहै,बावजूदइसकेकाटनएवंस्टीलकानिर्यातजारीहै।केंद्रसरकारकोइससंबंधमेंतत्परताकेसाथफैसलाकरकेनिर्यातपरप्रतिबंधलगानाचाहिए।इससेस्टीलकीउपलब्धताघरेलूबाजारमेंबढ़ेगीऔरबाजारमेंकीमतेंदबावमेंआएंगी।

दोसालमेंढाईगुणाबढ़गयादाम

रल्हननेकहाकिपिछलेदोसालमेंस्टीलकेदाम33हजाररुपयेप्रतिटनसेबढ़कर85हजाररुपयेप्रतिटनपरपहुंचगएहैं।रोजानाहीकीमतोंमेंउछालआरहाहै।घरेलूबाजारमेंकीमतोंमेंउछाललगातारजारीहै।इससेमाइक्रोइंडस्ट्रीबंदीकेकगारपरपहुंचगईहै।उसकेसमक्षआस्तित्वबचानेकासंकटपैदाहोगयाहै।इससेमेकइनइंडियाकेअभियानकोभीझटकालगसकताहै।ऐसेमेंप्रधानमंत्रीकोतुरंतहस्तक्षेपकरकेस्टीलएवंकाटनकीकीमतोंकोनियंत्रणमेंलानेकेउपायकरनेकेनिर्देशदेनेचाहिए,ताकिउपभोक्ताइंडस्ट्रीकोराहतमिलसके।

13.5मिलियनटनस्टीलकियानिर्यात

रल्हनकाकहनाहैकिघरेलूबाजारमेंकिल्लतकेबावजूददेशसेएकलाखकरोड़रुपयेमूल्यके13.5मिलियनटनतैयारस्टीलकानिर्यातकियागयाहै।इसकेअलावादेशमें106मिलियनटनस्टीलकीघरेलूबाजारमेंखपतहै।जबकिउत्पादनकरीब120मिलियनटनहै।देशमेंस्टीलकीमांगमेंलगातारइजाफाहोरहाहै।साफहैकिनिर्यातकेकारणदेशमेंस्टीलकीमांगऔरआपूर्तिलगभगबराबरहै।छोटेउद्योगोंकोस्टीलनहींमिलरहा।बाजारमेंकिल्लतजैसीस्थितिहैऔरकीमतेंबढ़रहीहैं।

By Dale