शारीरिक शिक्षा

जागरणसंवाददाता,बलिया:शारदीयनवरात्रकेतीसरेदिनसोमवारकोमांकपिलेवरीदेवीकेदरबारमेंआस्थावानोंकीकतारलगीरही।मांदुर्गाकेचंद्रघंटास्वरुपकीपूजा-आराधनाकीगई।देवीमंदिरोंमेंविधिविधानसेपूजन-अर्चनकियागया।नगरसमेतग्रामीणांचलोंमेंमांकेदर्शनकेलिएभक्तोंकीभारीभीड़उमड़पड़ीजहांकोविड-19केनियमोंकीधज्जियांउड़ाईजातीरही।मांचंद्रघंटाकास्वरूपअत्यंतसौम्यताएवंशांतिसेपरिपूर्णहै।मांचंद्रघंटाऔरइनकीसवारीशेरदोनोंकाशरीरसोनेकीतरहचमकीलाहै।दसोंहाथोंमेंकमलऔरकमडंलकेअलावाअस्त-शस्त्रहैं।माथेपरबनाआधाचांदइनकीपहचानहै।इसअर्धचांदकीवजहकेइन्हेंचंद्रघंटाकहाजाताहै।अपनेवाहनसिंहपरसवारमांकायहस्वरुपयुद्धवदुष्टोंकानाशकरनेकेलिएतत्पररहताहै।चंद्रघंटाकोस्वरकीदेवीभीकहाजाताहै।

तीसरेदिनसुबहसेशामतकदेवीमंदिरोंपरभक्तोंकीभारीभीड़रही।श्रद्धालुओंनेमाताकादर्शनकरपरिवारसहितदेशकीसुख-शांतिऔरसमृद्धिकेलिएप्रार्थनाकी।इसदौरानबहुरंगीफूलोंसेसजामांकादरबारऔरहाथोंमेंसजीपूजनकीथालीलिएभक्तोंकीआस्थावश्रद्धादेखतेहीबनरहीथी।

फेफनामेंमांकपिलेश्वरीभवानीमंदिरसमेतविभिन्नदेवीमंदिरोंमेंपूजनअर्चनकेलिएश्रद्धालुओंकीकतारलगीरही,वहींशंकरपुरस्थितशांकरीभवानीमंदिर,ब्रह्माइनस्थितमांब्रह्माणीदेवीमंदिर,कपूरीस्थितमांकपिलेश्वरीमंदिर,मंगलाभवानीमंदिर,उजेड़ाकेभवानीमंदिरवखरीदकीभवानीमंदिरमेंमांकेपूजनअर्चनकोआस्थाकासैलाबउमड़पड़ा।श्रद्धालुओंनेपूरीश्रद्धाऔरविश्वासकेसाथमांकापूजनअर्चनकिया।इसदौरानमांकेजयकारेसेपूराइलाकागूंजतारहा।दूर-दराजसेमांकेदरबारपहुंचेश्रद्धालुओंनेनारियलवचुनरीचढ़ाकरमातारानीसेकुशलताकीकामनाकी।वहींसुरक्षाकेमद्देनजरविभिन्नदेवीमंदिरोंपरकाफीसंख्यामेंपुलिसरही।

मांचंद्रघंटाकीपूजा

मांचंद्रघंटाकीपूजाकेलिएखासकरलालरंगकेफूलचढ़ाएगए।इसकेसाथहीफलमेंलालसेबचढ़े।.भोगचढ़ानेकेदौरानऔरमंत्रपढ़तेवक्तमंदिरकीघंटीजोरसेबजानेकीपरंपराकाभक्तोंनेनिर्वहनकिया।ऐसीपौराणिकमान्यताहैकिमांचंद्रघंटाकीपूजामेंघंटेकाबहुतमहत्वहै।मान्यताहैकिघंटेकीध्वनिसेमांचंद्रघंटाअपनेभक्तोंपरहमेशाअपनीकृपाबरसातीहैं।मांचंद्रघंटाकोदूधऔरउससेबनीचीजोंकाभोगलगायागया।मखानेकीखीरकाभोगभीलगायागया।मान्यताहैकिऐसाकरनेसेमांखुशहोतीहैंऔरसभीदुखोंकानाशकरतीहैं।

By Cooke