शारीरिक शिक्षा

कोरोनासंक्रमणकोरोकनेलॉकडाउनकानिर्णयसहीथा,लेकिनयेतस्वीरेंसरकारोंकीबदइंतजामीऔरनाकामीकोदिखातीहैं।येतस्वीरेंबतातीहैंकिइनगरीबोंकोउनकेहालपरछोड़दियागया।भलेहीइन्हेंभोजनमुहैयाकरानेसरकारेंऔरस्वयंसेवीसंगठनआगेआए,लेकिनयहव्यवस्थाआधी-अधूरीहीसाबितहुई।कईजगहेंगरीबोंकोतीन-तीनटाइमभोजनमिलरहा,तोकईजगह गरीबोंकोएकवक्तकीरोटीकेलिएभीलंबीलाइनोंमेंलगनापड़रहाहै।यहतस्वीरमध्यप्रदेशकेउज्जैनकीहै।उज्जैनमेंकोरोनासंक्रमणतेजीसेफैलाहै।यहांलॉकडाउनमेंसख्तीबरतीजारही,लेकिनइनजैसेगरीबोंकेखानेबाबतपुख्ताइंतजामनहींकिएगए।वर्नाएकमासूमबच्चीचिलचिलातीधूपमेंसड़कपरपड़ेगेहूंकेदानेबीननेक्योंआती?

यहहै10सालकीआरती।40डिग्रीसेऊपरतपतीसड़कसेगेहूंकेदानेबीनतीयहलड़कीदेशमेंगरीबोंकीस्थितिकोदिखातीहै।इससमयगेहूंकीखरीदीचलरहीहै।कोईगाड़ीयहांसेनिकलीहोगी,जिससेगेहूंकेदानेबिखरगएहोंगे।आरतीपासहीकिसीझोपड़ीमेंरहतीहै।उसकीमांनेसड़कपरगेहूंबिखरेदेखे,तोउसनेबेटीकोदौड़दिया।कहाकिवोदानेबीनलाए।इससेपीसकरवोउसकेऔरछोटेभाई-बहनकेलिएरोटियांबनादेगी।यहमामलाउज्जैनकेसेंटपॉलस्कूलमार्गकाहै।यहतस्वीरसरकारीव्यवस्थाओंपरसवालखड़ेकरतीहै।

यहतस्वीरनोएडाकीहै।येभगदड़केबादबिखरेपड़ेजूते-चप्पलनहींहै।बल्कियेगवाहीदेरहेहैंकियहांशेल्टरहोममेंजानवरोंकीतरहलोगोंकोरहनापड़रहाहै।

यहतस्वीरमहाराष्ट्रकेठाणेकीहै।यहविकलांगयुवकपैदलहीअपनेघरकीओरनिकलपड़ा।

यहतस्वीरकोलकाताहै।पांवमेंजख्महोनेकेबावजूदयहशख्सघंटोंलाइनमेंखड़ारहा।सवाल,भूखकाथा।

यहतस्वीरठाणेकीहै।खेलने-कूदनेकीउम्रमेंबच्चोंकोसिरपरबोझरखकरपैदलअपनेघरोंकीओरजातेदेखागया।

यहतस्वीरमहाराष्ट्रकेठाणेकीहै।लॉकडाउनमेंफंसेमजदूरपरिवारोंकोरहनेकीछोड़िए..खानेतककीदिक्कतहोरहीहै।

यहतस्वीरकोलकाताकीहै।खानालेतसमयबच्चेकीआंखोंमेंउदासीसाफपढ़ीजासकतीथी।शायदउसेहाथफैलाकरखानालेनाअच्छानहींलगरहाथा।

यहतस्वीरमहाराष्ट्रकेठाणेकीहै।लॉकडाउनमेंफंसेयेमजदूरउम्मीदकररहेकिजल्दसबकुछठीकहोजाए।

यहतस्वीरकोलकाताहै।एक-दूसरेकासहाराबनकरखानालेनेपहुंचेबुजुर्ग।

By Daniels