शारीरिक शिक्षा

आगरा,(सत्येंद्रदुबे)।मैंबटेश्वरहूं,तीर्थोंकाभांजा।मुझेब्रजकीकाशीभीकहतेहैं।मेरेआंचलमेंयमुनाकिनारेफैले101मंदिरोंमेंजबघंटे-घड़ियालगूंजतेहैंतोयेधरादिव्यहोउठतीहै।पूर्वप्रधानमंत्रीभारतरत्‍‌नअटलबिहारीवाजपेयीपरमुझेनाजहै।इनकीदेहमेंमेरीमाटीकीगंधहै।पूरेप्रदेशमेंविकासकीलहरचलीमगरमैंअछूतारहा।हरबारछलागया,सुनहरेसपनेकईबारटूटे।अबमुख्यमंत्रीआपआरहेहैंतोएकबारफिरउम्मीदजगीहै।कण-कणप्रफुल्लितहै।आसहैकिअबमेरीतकदीरऔरतस्वीरबदलेगी।

मेरीमाटीकालालअटलजब1977मेंदेशकाविदेशमंत्रीबनातोमैंफूलानहींसमाया।1998मेंप्रधानमंत्रीबननेकेबादतोमेरेसपनोंकोपंखलगगए।मेरेलालनेदेशऔरदुनियामेंखूबनामकमाया।छहअप्रैल1999कोजबमेरीधरापरउन्होंनेकदमरखातोमैंधन्यहोगया।लगामेरीसुधलेनेवालाआगया।मेरीदीनस्थितिबदलजाएगीलेकिनऐसानहोपाया।16अगस्त2018कोमेरेलालनेआंखेंबंदकींतोमैंटूटगया।पहचानदिलानेकीमेरीहसरतदिलमेंहीरहगई।अस्थिविसर्जनकेमौकेपरआपनेदामनथामातोमेरीभीउम्मीदबढ़गई।बहुतकुछमिलनेकावायदाभीहुआमगरघोषणाएंसब्जबागबनकररहगई।मैंआजभीवैसाहीहूं,जैसाआपदोसालपहलेछोड़करगएथे।मेरेआंगनमेंनअटलकीप्रतिमालगीऔरनहीपैतृकहवेलीकोस्मारककेरूपमेंविकसितकियागया।आपकेआनेसेपहलेजोबबूलकाटेगएथे,वेफिरउगआएहैं।जंगलातकोठीकीकायाकल्यकेइंतजारमेंहै।रेलवेस्टेशनकीबदहालीमनकोकचोटतीहै।डग्गेमारवाहनसीनाभेदरहेहैं।मुझेऊबड़-खाबड़सड़कोंसेभीमुक्तिनहींमिलीहै।बाहकोजिलाऔरमुझे(बटेश्वरको)तहसीलबनानेकाचारदशकपुरानासपनाभीठंडेबस्तेमेंहै।बेटियोंकेलिएकीगईमहाविद्यालयकीघोषणाभीराजनीतिकारशिकारहोगईहै।आपशनिवारकोआएंगेतोमेरीउम्मीदोंकीझोलाफैलीरहेगी।मुझेविकासकीसंजीवनीकीआसहै।