शारीरिक शिक्षा

जागरणसंवाददाता,उरई:आटाक्षेत्रकेपिपरायांगांवकीताराममताकेआसमानकीध्रुवताराबनगईहैं।जीवनमेंउनकोभलेहीखुशियांनसीबनहुईहोंपरंतुअपनेबेटेकेसुनहरेभविष्यकीललकमेंउन्होंनेकोईकसरनहींछोड़ी।ब्रांडेडदवाकंपनीमेंकार्यरतबेटेनेभीअच्छाकामकरचारबारगोल्डमेडलपाकरअपनीमांकीमेहनतकोसाकारकरदियाहै।

तारातिवारीकीजीवनगाथाविवाहकेबादसेहीदुखोंसेभरनेलगी।वर्ष1987मेंउनकेपितानेउनकीशादीग्रामआनूपुर(कानपुरदेहात)मेंधूमधामसेकीथी।हालांकिउनकावैवाहिकजीवनसुखमयनहींरहा।21अक्टूबर1989कोताराएकबेटेकीमांबनी।पुत्ररोहितसेउनकोखासादुलारथा।जबरोहितएकसालकाथातबउसकीतबियतज्यादाखराबहुई।इसपरउन्होंनेअपनेपतिसेरोहितकोडाक्टरकोदिखानेकेलिएकहा।हालांकिपतिरोहितकोतोचिकित्सककेपासनहींलेगयापरंतुउसनेताराऔररोहितकोघरसेनिकालदिया।वापसआकरउन्हेंमायकेकेकच्चेमकानमेंरहनेकोविवशहोनापड़ा।उनकेदुर्दिनयहींतकनहींथे।कुछसमयबादउनकेमाता-पिताऔरभाईकानिधनहोगया।इससेताराअकेलीपड़गईं।उनकाकोईसहारानहींथा।फिरभीउन्होंनेहिम्मतनहारी।तयकरलियाकिबेटेकोवहकाबिलबनाएंगीं।उन्होंनेगांवमेंहीसिलाईकरनीशुरूकरदी।इससेघरखर्चमेंकुछमददमिली।उन्होंनेअपनेदुखकोकभीबेटेकेआड़ेनहींआनेदिया।गांवमेंकक्षा8तककीपढ़ाईकरवानेकेबादहाईस्कूल,इंटरकीपढ़ाईबेनीमाधवतिवारीइंटरकालेजऔरअंबेडकरइंटरकालेजआटासेकरवाई।

तारातिवारीकासंघर्षउससमयरंगलायाजबरोहितकोवर्ष2011में25जुलाईब्रांडेडमेडिकलकंपनीमेंनौकरीमिली।उसकीतैनातीमध्यप्रदेशके¨छदवाड़ामेंहुई।कंपनीमेंबेहतरकामकेचलतेचारबारउसेगोल्डमेडलमिला।पहलागोल्डमेडलवर्ष2013-14मेंअच्छेकामकरनेकोलेकरमिला।दूसरा2014-15,तीसरा2015-16मेंऔरचौथावर्ष2016-17मेंमिला।अबरोहितकीपदोन्नतिकरलखनऊमेंएरियामैनेजरकेपदपरनियुक्तकियागयाहै।

कभीभूलनहींसकतामांकासंघर्ष

कानपुरमेंअपनेपरिवारकेसाथरहनेवालेरोहिततिवारीअपनीमांतारातिवारीकीतारीफकरतेनहींथकते।उन्होंनेकहाकिआजवहजोकुछभीहैंवहउनकीमांकेकठिनपरिश्रमकानतीजाहै।अगरमांअपनेसंघर्षमेंहिम्मतहारगईहोतीतोआजपतानहींउनकाक्याहोता।ऐसीमांहरकिसीकोमिले।

By Cook