शारीरिक शिक्षा

नईदिल्ली,आइएसडब्ल्यू।भारतमेंमईऔरजूनकेमहीनेमेंचलनेवालीग्रीष्मलहरेंजनजीवनकोअस्त-व्यस्तकरदेतीहैं।लूकेप्रकोपमेंवर्षदरवर्षचिंताजनकवृद्धिदेखीजारहीहै।इसकीचपेटमेंआनेसेप्रतिवर्षबड़ीसंख्यामेंमनुष्योंऔरपशुधनकीहानिहोतीहै।शोधकर्ताओंकाकहनाहैकिलूकेप्रकोपसेभारतऔरपाकिस्तानकाबड़ाहिस्साप्रभावितहुआहै।भारतऔरब्राजीलकेशोधकर्ताओंद्वाराकिएगएएकशोधमेंपायागयाहैकिजलवायुपरिवर्तनकेकारणआर्कटिकक्षेत्रमेंगर्मीलगातारबढ़रहीहै,जिसकाअसरभारतकेमौसमपरभीहोरहाहै।भारतीयमौसमपरयहप्रभाव'क्यूआरयू'मैकेनिज्मकेकारणहोरहाहै।

प्रतिकूलजलवायुपरिवर्तनकोथामनेकीतत्कालयोजनाकीजरूरत

क्यूआरएमैकेनिज्मकेतहतरॉस्बीतरंगें,जोपृथ्वीकेवायुमंडलऔरमहासागरोंमेंप्राकृतिकरूपसेपाईजातीहैं,पृथ्वीकीस्थलाकृतिऔरबढ़तेतापमानसेप्रभावितहोतीहैं।अध्ययनमें,भारतमेंक्यूआरएकीपरिघटनाऔरलूचलनेमेंपरस्परसंबंधकीबातसामनेआईहै।शोधमेंकहागयाहैकिआर्कटिकक्षेत्रचिंताजनकरूपसेगर्महोरहाहै,जिसे'आर्कटिकवार्मिंग'कहाजाताहै।आर्कटिकक्षेत्रमेंतापमानवैश्विकऔसतसेदोगुनीतेजीसेबढ़रहाहै।आर्कटिकक्षेत्रमेंबढ़रहीयहगर्मीग्लोबलवार्मिंगकापरिणामहै।

भारतमेंलूकेबढ़तेप्रकोपपरचिंताजताईगई

इसकेपहलेकईअन्यअध्ययनोंमेंभीभारतमेंलूकेबढ़तेप्रकोपपरचिंताजताईगईहै,लेकिनइसकाएकसंभावितकारणग्लोबलवार्मिंगहोसकताहै,यहबातअबसामनेआईहै।विज्ञानियोंकाकहनाहैकिइसप्रतिकूलजलवायुपरिवर्तनकीरोकथामकीयोजनाबनानेकीतत्कालआवश्यकताहै।डॉ.वीबीरावऔरअन्यशोधकर्ताओंनेअपनेअध्ययनमें,अप्रैलसेमईमहीनेकेदौरानभारतमेंसतहकेअधिकतमतापमानकेकमसेकमचारदिनपहलेसटीकपूर्वानुमानलगालेनेकीबातभीबताईहै।'

लार्जस्केलकनेक्शनटूडेडलीइंडियनहीटवेव्स'शीर्षकसेइसशोधकेपरिणामजर्नलऑफरॉयलमीटरोलॉजीमेंप्रकाशितहुएहै।इसअध्ययनमेंराष्ट्रीयअंतरिक्षअनुसंधानसंस्थान,ब्राजीलसेडॉ.वीबीराव,अजीमप्रेमजीविश्वविद्यालयसेडॉ.के.कोटेश्वरराव,एसआरएमइंस्टीट्यूटऑफसाइंसएंडटेक्नोलॉजीसेडॉ.टीवीलक्ष्मीकुमारऔरहैदराबादविश्वविद्यालयकेपीएचडीछात्रगोवर्धनदांडुशामिलहैं।

By Cooper