शारीरिक शिक्षा

जागरणसंवाददाता,जम्मू:शहीदोंकीयादमेंसंस्कृतिमंच,जम्मू(समज)नेशनिवारकोपोस्टरप्रदर्शनीलगाई।यहप्रदर्शनशहीद-ए-आजमसरदारभगतसिंहकेविचारोंऔरअवतारसिंह'पाश'वमनोजशर्माकीकविताओंपरआधारितथी।इसीअवसरपरसमजकी'वसंतकेहरकारे'श्रृंखलाकेतहतमनोजशर्माकेकवितासंग्रह'मीलपत्थरबुलारहाहै'तथाउनकेपांचोंसंग्रहोंसेचयनितवपंजाबीमेंअनुवादितकविताओंकीपुस्तकेंविमोचितकीगयी।यहअनुवादवरिष्ठपंजाबीकविवपंजाबीपत्रिकासाहित्यिकऐकमकीसंपादकअरतिन्दरसंधूनेकियाहै।

स्वागतभाषणमें'समज'केमहासचिवशेखमोहम्मदकल्याणनेसंस्थाकेआगामीकार्यक्रमोंकीसूचनादी।इससमारोहकीअध्यक्षताप्रतिष्ठितसाहित्यकारमहाराजकृष्णसंतोषीवजम्मू-कश्मीरकलासंस्कृतिएवंभाषाअकादमीकेपूर्वसचिव,संपादक,वरिष्ठकवि,चितकवचित्रकार,रमेशमेहतानेकी।

पंजाबीपुस्तकपरअपनेपत्रमेंडा.बलजीतसिंहरैनानेकहाकियेकविताएंअंतसकोगहरेसेप्रभावितकरतीहैं।युवाकविकमलजीतचौधरीनेमनोजशर्माकीपुस्तकमीलपत्थरबुलारहापरपेपरपढ़ा।जिसेकाफीपसंदकियागया।मनोजशर्मानेअपनीकुछरचनाएंपढ़करसुनाई।

अध्यक्षीयवक्तव्यमेंमहाराजकृष्णसंतोषीनेमनोजकेशिल्पमेंआएबदलावकोरेखांकितकिया।रमेशमेहताने'समज'कीयात्राकोआंकतेहुएकहाकियहसंस्थावाहवाहीकेलिएकतईकार्यरतनहींहै।उन्होंनेमनोजशर्माकीकविताकोबेहतरसमयकीआहटकहा।येकविताएंहमेंआश्वस्तकरतीहैं।मंचसंचालनराजकुमारबहरूपियानेकिया।सभीनेकवितासंग्रहकीकाफीप्रसंशाकी।

By Curtis