शारीरिक शिक्षा

संवादसहयोगी,कालाकोट:पीएचईविभागकीलापरवाहीकस्बेकेवार्ड-पांचकेलोगोंपरभारीपड़रहीहै।तत्तापानीस्थितपीएचईविभागकेस्टेशनमेंखराबपड़ीमोटरआजतकबदलीनहींगई।इससेवार्डमेंपेयजलआपूर्तिठपहै।ऐसेमेंलोगोंकोअपनीप्यासबुझानेकेलिएइसठंडमेंसुबहहीकईकिलोमीटरदूरप्राकृतिकजलस्रोतोंतकपहुंचनापड़ताहै।इससेउनकीदिनचर्याबिगड़गईहै।क्योंकिवार्डवासियोंकाअधिकांशसमयपानीढोनेमेंहीनिकलजाताहै।वार्डवासियोंनेपीएचईविभागसेखराबमोटरकीजगहनईमोटरलगाकरपानीकीआपूर्तिसुचारुकरनेकीमांगकीहै।वार्डवासियोंनेचेतावनीदेतेहुएकहाकिअगरजल्दउनकीसमस्याकासमाधाननहींहुआतोवोसड़कोंपरउतरनेकोमजबूरहोजाएंगे।इसकेलिएविभागखुदजिम्मेदारहोगा।

कस्बेकेवार्डनंबरपांचअप्परकालाकोटमेंपिछलेकईदिनसेपानीकीसप्लाईठपहै।इससेलोगोंमेंपीएचईविभागकेखिलाफरोषहै।वार्डवासीनिवासीसुनीलकुमार,केवलशर्मा,योगेशकुमार,सुरेशकुमारनेबतायाकिअप्परकालाकोटमेंपानीकीसप्लाईतत्तापानीपीएचईस्टेशनसेहोतीहै,लेकिनकईदिनसेपंपखराबहोनेसेपानीकीसप्लाईठपहै।इससेवार्डवासियोंकीपरेशानीबढ़तीजारहीहै।उन्होंनेकहाकिगांवमुहल्लेकेकईघरोंमेंशादीसमारोहहै,उनघरोंमेंभीपानीकेलिएपरेशानीहोरहीहै।लोगोंकोनिजीटैंकरोंसेपानीमंगवानापड़रहाहै।इससेउन्हेंआर्थिकनुकसानहोरहाहै।

पंपकीमोटरकोमरम्मतकेलिएवर्कशापमेंभेजागयाहै।जल्दहीइसकीमरम्मतकरवाकरअगलेकुछदिनोंमेंपानीकीसप्लाईबहालकरदीजाएगी।

सुरजीतसिंह,एईई,पीएचईविभाग