शारीरिक शिक्षा

रांची,[अमनमिश्रा]।NationalDoctor'sDay2020हरपेशेकामहत्वअपनी-अपनीजगहहै,लेकिनसमाजकेलिएचिकित्सकोंकेपेशेसेबढ़करकोईदूसरानहीं।तमामलोगमानतेभीहैंकिइनमेंमरीजोंकीजानबचानेकीक्षमताहोतीहै।यहींकारणहैकिइन्हेंधरतीकाभगवानकादर्जादियाजाताहै।कईबारजबकोईकिसीकीजानकीदुआमांगताहैतोदिखनेवालेभगवानकेरूपमेंचिकित्सकहीनजरआतेहैं।व्यावसायिकताहरक्षेत्रमेंबढ़ीहैलेकिनशहरमेंकईऐसेचिकित्सकहैंजिन्हेंसहीमायनेमेंधरतीकेभगवानकादर्जालोगदेतेहैं।इनचिकित्सकोंनेमरीजोंकीसेवाकेलिएखुदकोसमर्पितकररखाहै।पहलीजुलाईकोडॉक्टर्सडेहै।आपभीजानेंसेवाकेलिएसमर्पितशहरकीकुछऐसीहस्तियोंकेबारेमें:-

जिंदगीबचानेमेंखुदआएकोरोनाकीचपेटमें,ठीकहोकरफिरनिकलेजंगमें

बरियातूकेआलमनर्सिंगहोममेंएकऐसेहीएनेस्थिसिस्टहैजोकोरोनाकालकीशुरुआतसेहीमरीजोंकीसेवामेंलगेहै।येहैडॉअजहरहुसैन।कोरोनासंक्रमितोंकाइलाजकरतेहुएदसदिनपूर्वखुदभीकोरोनाकीचपेटमेंआगए।दोदिनपहलेस्वस्थहुएतोफिरमरीजोंकीसेवामेंडटगए।विगत13जूनकोएकमरीजइलाजकेलिएइनकेअस्पतालमेंभर्तीहुआथा।

स्थितिगंभीरहोनेकेकारणउसकाकोविड-19टेस्टतुरतनहींकरायाजासका।डॉ.अजहरनेमरीजकीजानबचानेकेलिएउसकाइलाजशुरूकरदिया,कोरोनाटेस्टकेलिएनमूनाबादमेंलियागया।भर्तीहोनेकेदोदिनबादउसकीरिपोर्टकोरोनापॉजिटिवनिकली।कॉन्टेक्टट्रेसिंगकेआधारपरडॉ.अजहरनेभीअपनाकोविडटेस्टकरायातोआशंकासहीसाबितहुईऔरइनकीरिपोर्टभीपॉजिटिवआगई।विगत27जूनकोकोरोनारिपोर्टनिगेटिवआनेकेअगलेहीदिनमरीजोंकेइलाजमेंफिरडटगए।

कोरोनाकालमेंकरडाले100सेज्यादाएंजियोग्राफी-एंजियोप्लास्टी

हृदयरोगसेपीडि़तमरीजोंकामामलासंवेदनशीलहोताहै।इलाजमेंदेरीयाकोताहीभारीपड़सकतीहै।अगरसमयरहतेउपचारउपलब्धहोजाएतोसबकुछसामान्यरहताहै।रिम्सकेकार्डियोलॉजिस्टडॉ.प्रशांतकुमारनेकोरोनाकालमेंखुदसंक्रमितहोनेकाडरपीछेछोड़सिर्फमरीजोंकीचिंताकी।मरीजोंकेसीधेसंपर्कमेंरहतेहुएदोमहीनेकेभीतर100सेज्यादाएंजियोप्लास्टीऔरएंजियोग्राफीकी।

डॉ.प्रशांतकुमारबतातेहैकिउनकेपासकाफीगंभीरमरीजपहुंचतेहै।कोरोनाटेस्टमेंकमसेकमदोदिनकासमयलगजाताहै।अगरमरीजोंकेपाससमयहीनहोतोरिपोर्टकाइंतजारकैसेकरसकतेहैं।हमारीप्राथमिकतामरीजोंकीजानबचानेकीहोतीहै।पिछलेदोमहीनोंकेदौरानइन्होंनेदोबड़ेराजनेताओंकीभीएंजियोप्लास्टीकीहै।

कोरोनामैनकेनामसेराज्यभरमेंअलगपहचानबनाचुकेडॉ.देवेश

रिम्सकेकोविडवार्डमेंपहलाकोरोनासंक्रमणमिलनेसेलेकरलगातारड्यूटीकरसंक्रमितोंकाजानबचानेमेंलगेहैरिम्सकेपीएसएमविभागकेएसोसिएटप्रोफेसरडॉ.देवेशकुमार।किसीमरीजकीकोविडवार्डमेंदाखिलकरानाहोयाठीकहोनेकेबादडिस्चार्जकरानाहो।कोविडवार्डकेबाहरसेअंदर,भर्तीकरानेसेलेकरइलाजतकमेंइनकीभूमिकारहतीहै।

रिम्सकेडॉ.देवेशकुमारकोराज्यभरमेंकोरोनामैनकेनामसेजानाजानेलगाहै।कोरोनामरीजोंकेप्रतिइनकीजिम्मेदारीकाअंदाजाइससेलगायाजासकताहैकिकरीबडेढ़महीनेतकयेअपनेघरनहींगएऔरमरीजोंकाइलाजकरानेवसुविधाएंदेनेकेलिएखड़ेरहे।जानकारीवअनुभवकेआगेइन्होंनेडरकोफटकनेनहींदिया।कोरोनासे जंगमेंखुदकोतोआगेरखाही,अन्यचिकित्सकोंकीहिम्मतभीबढ़ातेरहे।शायदहीकोईऐसामरीजहोजोकोरोनावार्डसेडिस्चार्जहोकरजातेवक्तडॉ.देवेशकेगुणगाननकरे।

पतिनेकीजटिलसर्जरीतोपत्नीकेप्रयाससेघरबैठेमिलाइलाज

सालमेंसिर्फएकदिनडॉक्टरोंकेसम्मानकेलिएडॉक्टर्सडेकेरूपमेंमनायाजाताहै।हमेशासेवामेंतत्पररिम्सकायहचिकित्सकदंपतीअलगहीमिसालकायमकरचुकाहै।पतिडॉ.अंशुलकुमारकार्डियोथोरेसिकएंडवैस्कुलरसर्जरीविभागकेएचओडीहैंतोपत्नीडॉ.अर्पितारायडेंटिस्ट।डॉ.अंशुलनेरिम्समेंओपनहार्टजैसीजटिलसर्जरीशुरूकरदेशभरमेंरिम्सकोअलगपहचानदिलाई।

कोरोनाकालमेंभीइन्होंनेतीनओपनहार्टसर्जरीऔरहार्टवलंग्ससेजुड़ीदर्जनोंसर्जरीकी।वहींडॉ.अर्पितारायनेकोरोनाकीवजहसेजबमरीजअस्पतालपहुंचनेमेंअसमर्थथेतबअस्पतालकेचिकित्सकोंकोउनतकपहुंचाया।इनकेप्रयाससेटेलीकॉन्फ्रेंसिंगकेजरिएकरीब5000मरीजोंकाइलाजइनकेप्रयाससेसंभवहोसका।

By Craig