शारीरिक शिक्षा

जम्मू,जागरणसंवाददाता:देशकोअंग्रेजोंसेआजादीमिलनेमेंदोसौसालसेज्यादावक्तलगगया।आजादीमेंआसानीसेनहींमिली।इसकेलिएस्वतंत्रतासेनानियोंनेलंबासंघर्षकिया।अनगिनतलोगोंनेकुर्बानियांदीं।आजादीकेदीवानेसीधेअंग्रेजोंसेभिड़गएथे।नेताजीसुभाषचंद्रबोसभीइनमेंसेएकथे,जिन्होंनेअपनेनारेसेदेशकेलोगोंमेंदेशभक्तिकासंचारकिया।आजादहिंदफौजकागठनकिया।उन्होंनेलोगोंसेकहाकितुममुझेखूनदो,मैंतुम्हेंआजादीदूंगा।इसकेबादआजादहिंदफौज मेंशामिलहोनेकेलिएदेशकेलोगोंमेंजुनूनपैदाहोगया।

आखिरकार15अगस्त1947कोदेशकोआजादीमिलहीगई।वेदगंडोत्राआजादहिंदफौज केबारेमेंबतातेहुएउसमेंहीखोजातेहैं।उन्होंनेनईपीढ़ीकोस्वतंत्रतासंग्रामकेसेनानियोंकेसंघर्षोंकेबारेमेंजागरूककरनेकोअपनेजीवनकालक्ष्यबनालियाहै।नेताजीसुभाषचंद्रबोसउनकीयादोंमेंआजभीबसेहैं।बसतारछेड़नेकीदेरहोतीहै,नेताजीजुड़ीयादेंचलचित्रकीतरहउनकेदिमागमेंचलनेलगतीहैं।वे18सालसेलगातारनेताजीकाजन्मदिनमनातेआरहेहैं।उन्होंनेकभीनेताजीकोदेखानहीं,मगरविभिन्नमाध्यमसेउनकेविचारतोसुननेकोमिलेही।

84सालकेवेदगंडोत्राकोभलेहीअबआंखोंसेभीकमदिखनेलगाहो,मगरनेताजीसुभाषचंद्रकीबातोंकीरोशनीआजभीउनमेंपूरीतरहसेकायमहै।वहकहतेहैंकिहरशख्सकोनेताकीतरहदेशकेलिएसमर्पितहोनाचाहिए,लेकिनअफसोसयहहैकिदेशकेयुवाअपनेहीवीरोंकोभुलातेजारहेहैं।वेदगंडोत्राकाकहनाहैकिनेताजीहीकहतेथे,किहमारीराहभलेहीभयानकऔरपथरीलीहो,हमारीयात्राचाहेकितनीभीकष्टदायकहो,लेकिनहमेंआगेबढ़नाहीहै।सफलताकादिनदूरहोसकताहैलेकिनइसकाआनाअनिवार्यहै।गंडोत्राकहतेहैंकिइसीतरहसेहमसबकोकार्यकरतेहुएआगेबढ़नाहैऔरदेशकोआगेबढ़ानाहै।वेदगंडोत्राजोकिजम्मूकश्मीरफ्रीडमफाईटर्सएसोसिएशनकेचेयरमैनहैं।उनकेदोबेटेहैं।वेदगंडोत्राकाजीवनअबस्वतंत्रतासेनानियोंकीगाथाओंसेलोगोंकोअवगतकरानेमेंगुजररहाहै।उनकीपत्नीसंतोषगंडोत्राभीपूरासाथदेतीहैं।

By Curtis