शारीरिक शिक्षा

संवादसूत्र,राजनगर:अभिभावकशिक्षकदिवसकोलेकरस्थानीयकिसानभवनमेंगुरुवारकोप्रखंडस्तरीयकार्यशालाकाआयोजनकियागया।इसमेंबीडीओप्रेमचंदसिन्हा,बीपीओममतादुबे,बीआरपीरंगलालसतपथी,प्लसटूहाईस्कूलकेप्रधानाध्यापकनित्यानंदसिंहउपस्थितथे।

मौकेपरबीडीओप्रेमचंदसिन्हानेकहाकिसरकारीस्कूलनिजीस्कूलोंसेबेहतरहै।सरकारीस्कूलकेशिक्षकोंमेंबच्चोंकोगुणवत्तापूर्णशिक्षादेनेकीसारीकाबिलियतहै।सरकारीस्कूलकेछात्रनिजीस्कूलोंकेछात्रोंसेआगेनिकलसकतेहैं।बशर्तेअभिभावकोंकोभीअपनीजिम्मेवारीसमझनीहोगी।उन्हेंसरकारीस्कूलोंकेप्रतिअपनीगलतमानसिकताकोबदलनीहोगी।जबकोईअविभावकनिजीस्कूलोंमेंअपनेबच्चोंकोपढ़ातेहैंतोबच्चोंपरज्यादाध्यानदेतेहैं।बच्चोंकोतैयारकरस्कूलपहुंचाना,स्कूलसेघरवापसलाना,होमवर्ककराना।येसारेदायित्वनिभातेहैं।वहींजबसरकारीस्कूलकीबातआतीहैतोअविभावकसारीजिम्मेदारीशिक्षकपरछोड़देतेहैं।इसीमानसिकताकोबदलनेकीजरूरतहै।सरकारकास्कूलोंमेंअविभावकशिक्षकदिवसमनानेकानिर्णयएकअच्छाआइडियाहै।इससेअभिभावकोंकोस्कूलव्यवस्थाकेबारेमेंजानकारीहोगी।शिक्षकोंकीपरेशानीऔरपठनपाठनगतिविधियोंसेभीअवगतहोनेकामौकामिलेगा।इससेशिक्षाकीगुणवत्तामेंविकासहोगा।इससेपहलेबीपीओममतादुबेनेप्रोजेक्टरकेमाध्यमसेराजनगरप्रखंडमेंशिक्षासुधारकेलिएचलाएजारहेविभिन्नकार्यक्रमोंकीजानकारीदी।उन्होंनेकहाकिज्ञानसेतुकार्यक्रमसेबच्चोंकीअधिगमसंव‌र्द्धनहुईहै।कार्यक्रमकासंचालनशिक्षकश्रीसिंहबास्केनेकिया।कार्यशालामेंसभीस्कूलोंकेप्रधानाध्यापकउपस्थितथे।