शारीरिक शिक्षा

दरभंगा।सिंहवाड़ाकीनिस्तापंचायतकेरसूलपुरकीजामामस्जिदअरबीनक्काशीकानायाबनमूनाहै।मस्जिदकोनयालुकदेनेकोलेकरगांवकेनमाजीहमेशातत्पररहतेहैं।बिजली,रोशनीएवंरखरखावकीजिम्मेदारीगांवकेलोगनिभातेहैं।मस्जिदनिगरानीकमेटीहरकामकोअपनेमाकूलवक्तपरकरतीहै।युवाओंकीभागीदारीबढ़-चढ़करहोतीहै।हाजीशमसुलहोदा,हाजीमोहम्मदीन,प्रो.आमीरनिशात,इंजीनियरमो.तबरेजआलम,दिलनवाजशैफी,मो.दानिश,डीलरहसनैनराही,मो.सादाब,मो.शोएबआदिबतातेहैंकिमाहेरमजानतरावीहकीनमाजकेसाथसभीअरकानपूरीकीजातीहै।2016सेपहलेमस्जिदकाआकारछोटाथा।जनसंख्याबढ़नेकेबादपुरानीमस्जिदकोशहीदकरआकर्षकबनायागयाहै।इसजामामस्जिदमेंप्रतिदिनपंचगानानमाजकेसाथईद,बकरीदकीनमाजहोतीहै।मदरसामेंबाहरकेबच्चोंकोतालीमदीजातीहै।बीचगांवमेंयहमस्जिदहोनेसेचारोंतरफकेनमाजीनमाजअदाकरतेहैं।माहेरमजानमेंनेकीकाशबाबसत्तरगुणाज्यादा:मुफ्तीइबादुल्लाहकासमीसिंहवाड़ा,संस:निस्ताजामामस्जिदकेइमाममुफ्तीइबादुल्लाहकासमीफरमातेहैंकि

रमजानकामहीनापाकऔरअफजलहै।अल्लाहपाककीखासइबादतकरनेवालोंकीनेकीकाशबाबसत्तरगुनाज्यादामिलताहै।इसपाकमाहमेंसब्रबढ़जातीहै।बंदेपरअल्लाहकीखासनजरहोतीहै।रोजाइंसानकेहौसलेकोमजबूतबनातीहै।बुराइयोंसेतौबाकराकरनेकीकेरास्तेपरलेजानेकानामरमजानहै।भूखऔरप्यासकीशिद्दतकोकाबूकरनातोआसानहै।लेकिनहमइंसानकोहाथपैरकानआंखवजुबानसेकोईगुनाहनहींकरनीचाहिए।किसीकादिलनादुखाएं।गरीबोंवमिसकीनपरध्यानरखें।नेकीकरकेअपनेअल्लाहकोराजीकरलेनाअहमकिरदारहै।अल्लाहपाकआपकेअच्छेकारनामोसेराजीहोगएतोइसकाबदलाआपकोजन्नतमेंमिलेगा।रमजानकेपाकमहीनेमेंरोजारखनेकामहत्वअधिकहै।ऐसीमान्यताहैकिरमजानकेरोजाकेसभीअरकानपूराकरनेसेसारेगुनाहधूलजातेहैं।रोजाकेसाथकुरानकीखूबतिलावतकरेनमाजकाखासख्यालरखें।इफ्तारकेसमयसे15मिनटपहलेदस्तरखानपरबैठजाएं।अल्लाहसेउसवक्तकीमांगीगईदुआकबूलहोतीहै,ऐसाहदीसमेंकहागयाहै।हदीसमेंयेभीकहागयाहैकिअल्लाहशैतानसेकहताहैकिदेखमेरेबंदेरोजारखकरअपनेदस्तरखानपरसारीसामानरखकरभीकुछखापीनहींरहेहैं।जबतक(अजान)कीआवाजनहींगूंजेंगेवेकुछनहींखाएंगे।अल्लाबतबारकतालाखुशहोकरकहतेहैंकिमांगोतुम्हेंजोमांगनाहैहरदुआएंकुबूलहोगी।ओलमायेकरामनेइसपाकमहीनेअमनऔरशांतिकेलिएखासतौरपरदुआकी।