शारीरिक शिक्षा

नयीदिल्ली,तीनजनवरी(भाषा)उच्चतमन्यायालयनेकोरोनावायरसकीदूसरीलहरकेदौराननकलीरेमडेसिविरइंजेक्शनखरीदनेकेआरोपीव्यक्तिकेहिरासतआदेशकोचुनौतीदेनेवालीयाचिकापरसोमवारकोकेंद्रऔरमध्यप्रदेशसरकारसेजवाबमांगा।आरोपीजबलपुरकारहनेवालाहै।न्यायमूर्तिडीवाईचंद्रचूड़औरन्यायमूर्तिएएसबोपन्नाकीपीठनेइसयाचिकापरकेंद्रीयगृहमंत्रालयऔरराज्यसरकारकेगृहविभागकेमुख्यसचिवकोनोटिसजारीकिये।यहयाचिकाआरोपीदेवेशचौरसियानेदायरकीहै।चौरसियानेमध्यप्रदेशउच्चन्यायालयकेआदेशकोचुनौतीदीहैजिसनेहिरासतआदेशकेखिलाफउसकीयाचिकाखारिजकरदीथी।शीर्षअदालतनेदोहफ्तेमेंउनसेजवाबमांगाहै।शीर्षअदालतनेइससेपहलेजबलपुरकेडॉक्टरकीहिरासतकाआदेशरद्दकरदियाथा।इसपरकोविड-19कीदूसरीलहरकेदौरानचौरसियाकेसाथसांठगांठकररेमेडिसिविरकेनकलीइंजेक्शनखरीदनेकाआरोपहै।याचिकामेंकहागयाहैकिहिरासतआदेशमेंउल्लेखितकथितआधारराष्ट्रीयसुरक्षाअधिनियम(रासुका)1980केप्रावधानोंकोलागूकरनेयोग्यनहींहै।याचिकामेंदलीलदीगईहैकिरासुकाकेप्रावधानलागूकरनेकेलिएहिरासतमेंलेनेवालेप्राधिकरणकोवहकारणबतानाहोताहैजोसंकेतदेताहैकिआरोपीनेकैसेसार्वजनिकव्यवस्थाकोप्रभावितकियाहैऔरसामाजिकसुरक्षाकोखतरापहुंचायाहै।याचिकाकेमुताबिक,याचिकाकर्ताकोलंबेसमयतकहिरासतमेंरखनेऔरएनएसएलागूकरनेकाआजतककोईआधारनहींबनायागयाहै।याचिकामेंयहभीकहागयाहैकिइसकेअलावा,जांचप्राधिकारीनेरिकॉर्डपरकोईसबूतनहींरखाहैजोरासुकाकेप्रावधानोंकोलागूकरनेकेयोग्यहोऔरइसकेबावजूदयाचिकाकर्ता10मई2021सेहिरासतमेंहै।जबलपुरकेडॉक्टरकीहिरासतकेआदेशकोरद्दकरतेहुए,शीर्षअदालतनेकहाथाकिराज्यसरकारनेउसकेप्रतिवेदनपरनिर्णयमेंदेरीकीऔरपरिणामबतानेमेंभीविफलरही।उच्चतमन्यायालयनेजबलपुरकेसिटीअस्पतालकेनिदेशकसरबजीतसिंहमोखाकीअपीलपरयहआदेशदियाथा।मोखाने24अगस्त2021केमध्यप्रदेशउच्चन्यायालयकेआदेशकोचुनौतीदीथी।

By Connor