शारीरिक शिक्षा

नयीदिल्ली,छहनवंबर(भाषा)संयुक्तराष्ट्रकीवरिष्ठसलाहकारउषानारायणहेजनेअपनीकिताबमेंराष्ट्रीयग्रामीणरोजगारगारंटीअधिनियम(नरेगा)कोहालमेंभारतकीएकबड़ीसफलताकरारदियाहैजोआबादीकेवंचिततबकेकोभूखमरीसेसुरक्षाप्रदानकरतीहै।उषाकीयहकिताबलगातारबदलतीनीतियोंकोलेकरहैजोएशियाईऔरअफ्रीकीदेशोंमेंसामाजिकसुरक्षाव्यवस्थाकोप्रभावितकरतीहैं।किताब“सोशलप्रोटेक्शन:लैंड्सऑफब्लॉसमिंगहोप”मेंविकासविशेषज्ञउषाहितोंकापरीक्षणऔरविश्लेषणकरनेकेसाथहीप्रेरकोंऔरचालकोंकाभीआकलनकरतीहैंजोसामाजिकयोजनाओंकीप्रक्रियाओंऔरउन्हेंबढ़ावादेनेकेलियेनिगरानीवालेपदोंपरहैं।उषाअपनीकिताबमेंसामाजिकयोजनाओंकेअवरोधकोंकीभीपहचानकरतीहैं।उन्होंनेकहाकिउनकीनईकिताब,“हमारीजीतऔरगलतियोंकीयाददिलातीहै,यहहमारेजैसेसंयुक्तराष्ट्रकेउनकर्मचारियोंकेलियेहैजो‘बदलावलाने’केमकसदसेकामकरतेहैं।यहहमारीअज्ञानता,हमारीकमियोंकेसाथहीहमारीलगन,जुनून,दृढ़ताऔरप्रतिबद्धताकेबारेमेंहै।”संयुक्तराष्ट्रबालकोष(यूनीसेफ)केमुताबिक,सामाजिकसुरक्षाविकासऔरवृद्धिकेलियेमहत्वपूर्णहैऔरव्यापकरूपसेइसे“सार्वजनिकवनिजीनीतियोंऔरकार्यक्रमोंकेसमूहकेतौरपरपारिभाषितकियाजाताहैजिनकाउद्देश्यगरीबीऔरआभावकीआर्थिकवसामाजिककमजोरियोंकोरोकनाहै।”किताबमेंभारतकीदोसबसेबड़ीसामाजिकसुरक्षायोजनाओंनरेगाऔरएकीकृतबालविकाससेवाएं(आईसीडीएस)केअनुभवोंऔरसुधारोंपरसंज्ञानलियागयाहैऔरइन्हेंगरीबीकोलक्षितकरशुरूकीगईअहमयोजनाएंकरारदिया।किताबमेंनरेगाकोभारतमेंहालकी“सबसेबड़ीसफलता”करारदियागयाहै।