शारीरिक शिक्षा

राजधानीदिल्लीमेंकोरोनाकीबेकाबूरफ्तारकेबीचऑक्सीजनकीकिल्लतभीजारीहै.मंगलवारकोएकबारफिरहाईकोर्टमेंइसमसलेपरसुनवाईहुई.दिल्लीहाईकोर्टनेएकबारफिरऑक्सीजनकीकिल्लतकोलेकरकेंद्रसरकारकोफटकारलगाईहै.हाईकोर्टनेकहाकिऑक्सीजनसप्लाईपरअबकोईबहानेबाजीयातर्कनहींसुनाजाएगा.आपकोअबदिल्लीकोतुरंत700मीट्रिकटनऑक्सीजनसप्लाईकरनीहोगी.आपकेपासइसआदेशकोमाननेकेसिवायकोईऔररास्तानहींहै.

हाईकोर्टनेसख्तीसेकहाकिकेंद्रसरकारआखिरदिल्लीको ऑक्सीजनदेनेकेमामलेमेंइतनाढुलमुलकैसेहोसकतीहै.जबकिराजधानीमेंलोगऑक्सीजनकीकमीसेमररहेहैं.केंद्रसरकारकायहरवैयासमझसेपरेहैआखिरकेंद्रसरकारऑक्सीजनकेमामलेमेंक्योंनहींगंभीरहोरहीहै.

सुनवाईकेदौरानहाईकोर्टनेकेंद्रसेकहाहैकिआपआंखेंमूंदसकतेहैं,लेकिनहमनहीं.हाईकोर्टमेंअमिकसक्यूरीनेजानकारीदीहैकिदिल्लीमेंकईलोगऑक्सीजनकीकमीकीवजहसेमररहेहैं.

हाईकोर्टनेकेंद्रसरकारसेकहाहैकिअगरमहाराष्ट्रमेंइसवक्तऑक्सीजनकीखपतकमहै,तोवहांकेकुछटैंकरदिल्लीभेजेजासकतेहैं.केंद्रनेअदालतमेंबतायाकिहमआजसुप्रीमकोर्टकेसामनेअपनीअनुपालनरिपोर्टदाखिलकररहेहैं,हमइसतथ्यपरनहींजाएंगेकि700MTकीआपूर्तिकरनीहैयागैसकेबाकीकोटेकोपूराकरनाहै.

हाईकोर्टनेयेभीकहाकिकेंद्रीयस्तरपरयाराज्यस्तरपरकोईभीराजनीतिकनेताअपीलक्योंनहींकररहाहै?उननेताओंकोसामनेआनाचाहिएऔरलोगोंसेअपीलकरनीचाहिएकिबेवजहऑक्सीजनसिलेंडरघरमेंनारखें.आखिरवोकिसीकीजानबचानेमेंकामआसकताहै.

केंद्रकोकारणबताओनोटिसजारीकिया

हाईकोर्टनेनाराजगीजाहिरकरतेहुएकहा,हमदेखरहेहैंकिआजलोगअपनेलिएअस्पतालमेंबेडतकनहींलेपारहेहैं.स्थितिअबउसपॉइंटपरआगईहै,जहांअस्पतालोंऔरनर्सिंगहोम्सकोऑक्सीजनकीकमीकीवजहसेबेडकमकरनेपड़रहेहैं.एकतरफहमेंमरीजोंकीबढ़तीसंख्याकोध्यानमेंरखतेहुएसुविधाएंबढ़ानेकीजरूरतहै,तोदूसरीतरफमौजूदाइंफ्रास्ट्रक्चरभीढहताजारहाहै.

हाईकोर्टनेकेंद्रकोकारणबताओनोटिसजारीकियाहैऔरपूछाहैकिकेंद्रकारणबताएकिउसकेखिलाफअवमाननाकामामलाक्योंनाचलायाजाए?हाईकोर्टनेकेंद्रकेदोसीनियरअफसरोंकोसमनभेजकरअदालतमेंपेशहोनेकोकहाहै.इनमेंएकअधिकारीपीयूषगोयलहैं,जोगृहमंत्रालयकेएडिशनलसेक्रेटरीहैंऔरदूसरीहैंसुमितादावड़ा,जोडिपार्टमेंटऑफप्रमोशनऑफइंडस्ट्रीएंडइंटरनेशनलट्रेडमेंएडिशनलसेक्रेटरीहैं.

क्लिककरें:ऑक्सीजनकीकमीसेमौतपरबोलेबत्राहॉस्पिटलकेचीफ-पतानहींदेशकौनचलारहाहै

HCनेICMRसेकहा,लोगोंकोबताएंबीमारहोनेपरक्याकरें

सुनवाईकेदौरानहाईकोर्टनेकहाकिलोगोंकोसमझनहींआरहाहैकिअगरवोबीमारपड़गएतोउन्हेंक्याकरनाचाहिए.जस्टिसविपिनसांघीनेकहाकिमेरेकोर्टस्टाफनेअपनीपत्नीकोखोदिया.उसेकिसीनेसलाहनहींदी.इसकेबादहाईकोर्टनेICMRकोनिर्देशदिएकिवोएकवीडियोक्लिपजारीकरलोगोंकोबताएकिअगरकोरोनाकेलक्षणदिखें,तोक्याकरनाचाहिए.उन्हेंअस्पतालआनेकीकबजरूरतहै.क्या-क्यासावधानियांरखनीचाहिए.ऑक्सीजनकंसंट्रेटर्सऔरऑक्सीजनसिलेंडरकाइस्तेमालकैसेकरनाहै.कोर्टनेICMRसेकहाकि4दिनोंकेबादअधिकतरलोगोंकोबुखारनहींहै.लोगोंकोबतानाहोगा.कोरोनाकेबादक्यापरीक्षणकिएजानेहैं।7-8दिनोंकेबादलोगोंकोजटिलताएंहोरहीहैंइसेबतानाहोगा.

हाईकोर्टनेपूछा,मोहल्लाक्लीनिककाइस्तेमालअबहोसकताहै

केजरीवालसरकारनेबतायाकिदिल्लीमें450मोहल्लाक्लिनिकहैं.कुछटेस्टभीवहांहोतेहैं.डाइग्नोस्टिकसर्विसभीहै.लेकिनवहांपरजगहकमहोतीहै.सोशलडिस्टेंसिंगकापालननहींहोसकताहै.एकडॉक्टरऔरएकनर्सहीहै.इसपरकेंद्रसरकारकीतरफसेपेशASGनेकहाकिमोहल्लाक्लीनिकएकअच्छामंचहै,यहमूल्यवानसंसाधनहै.

दिल्लीसरकारनेकहाकिकेंद्रसरकारयेमानरहीहैकिमोहल्लाक्लीनिकएकसंसाधनहै.मोहल्लाक्लिनिकवर्ल्डक्लासहै.हाईकोर्टनेपूछाकिमोहल्लाक्लिनिकमेंकिसतरहसेटेस्टहोतेहैं?जवाबमेंदिल्लीसरकारनेबतायाकीनॉनकोविडटेस्टफ्रीमेंकियाजाताहै.कोर्टनेकहाकिआपनेयेबुनियादढांचाबनायाहैक्याइसकोमहामारीमेंइस्तेमालनहींकियाजासकता.

अदालतमेंफिरआमने-सामनेआएकेंद्र-राज्य

हाईकोर्टमेंएमेकसक्यूरीनेसुझावदियाहैकिकुछजगहपरऑक्सीजनकोस्टोरकियाजासकताहै,जिससेकमीकासंकटकमहो.दिल्लीहाईकोर्टनेकेंद्रकोफटकारलगातेहुएकहाहैकिसुप्रीमकोर्टनेभीदिल्लीको700MTऑक्सीजनदेनेकोकहाहै,ऐसेमेंउसेइतनामिलनाहीचाहिए.

क्लिककरें: Coronaकाकहरबरकरार,Delhiमें1दिनमेंसबसेज्यादामौत

दिल्लीसरकारनेअदालतमेंआरोपलगायाहैकिऑक्सीजनकीसप्लाई,टैंकर्सकासहीइस्तेमालनहींहोरहाहै.जबकिकेंद्रसरकारनेहाईकोर्टकोजानकारीदीहैकिबीतेदिनहीदिल्लीको12अतिरिक्तऑक्सीजनटैंकर्सअलॉटकिएगएहैं.

राज्यसरकारनेआरोपलगायाहैकिऑक्सीजनकीकमीकेकारणलोगोंकीमौतहोरहीहै,लेकिनकेंद्रसहीसेसप्लाईनहींकररहाहै.सुनवाईकेदौरानदोनोंपक्षोंमेंतीखीबहसहुई,जिसकेबादअदालतनेहस्तक्षेपकिया.

ऑक्सीजनबैंकबनानेकासुझाव

दिल्लीमेंऑक्सीजनकीकमीसेनिपटनेकोदिल्लीहाईकोर्टनेदिल्लीसरकारकोसुझावदियाहैकिजैसेबल्डबैंकहोताहै,उसीतर्जपरऑक्सीजनसिलेंडरबैंकबनायाजासकताहै.जहांलोगऑक्सीजनसिलेंडरजमाकरसकतेहैं,जिन्हेंजरूरतहोवहांसेलेसकतेहैं.हाईकोर्टनेदिल्लीसरकारकोकहाकिइसपरकामकरेंऔरलोगोंकोसमझाएंकिवोजरूरतनाहोनेपरसिलेंडरबैंकमेंजमाकरदें.दिल्लीसरकारनेकहाकियेएकअच्छासुझावहैऔरइसपरनिर्देशलेंगे.

दिल्लीकेमुनीमायारामअस्पतालनेहाईकोर्टमेंअपीलकीहैकिहमारेपाससिर्फ30ऑक्सीजनबेड्सहैं,लेकिनहमेंनकारानहींजासकताहैऔरहमेंऑक्सीजनकीसख्तजरूरतहै.हमारेअस्पतालमेंहररोजमौतेंहोरहीहैंऔरसरकारऑक्सीजनकीसप्लाईकरनेमेंनाकामहैं.बीतेकईदिनोंसेदिल्लीमेंयहीसमस्याहै,अभीतकआधादर्जनसेज्यादाअस्पतालऑक्सीजनकोलेकरहाईकोर्टकारुखकरचुकेहैं.