शारीरिक शिक्षा

दरभंगा।घनश्यामपुरथानाक्षेत्रकेकोर्थूगांवमेंदौहतालाबमेंस्नानकरनेकेदौरानपांचबच्चियोंकीमौतसेपूरागावंगमगीनहोगयाहै।परिजनोंकेचीत्कारसेगांवखामोशबनाहै।हालातयहहैकिढाढ़सबढ़ानेवालेभीअपनाआंसूकोरोकनहींपारहेहैं।बावजूद,सभीकेपरिजनोंकोहौसलासेकामलेनेकीनसीहतदेंरहेहैं।लेकिन,भवीचन्द्रदासकेघरकोहराममचाहै।रविवारकीसुबहजलाभिषेककरनेकेलिएस्नानकरनेगईउनकीदोनोंपुत्रीकीमौतसेपूरेगांवकेलोगस्तब्धहै।भवीचंद्रअपनेबच्चोंकीसहीपरवरिशकेलिएरोजी-रोटीकीतलाशमेंपरदेशमेंहैं।इधर,उनकीदुनियाहीउजरगईहै।घरमेंपत्नीसोनियादेवीकेअलावामात्रउनकाएकपुत्रसजीतकुमारहैं।मांसोनियादेवीअपनीदोनोंबच्चियोंकेशवोंकोअपनेआगोशमेंलेकरकलेजापीट-पीटकररोरहीथी।यहीहालतसंजीवमिश्रकीघरकीहै।बचपनमेंमांकीमौतकेबादउसकालालनपोषणउसकीसौतेलीमांकुमकुमदेवीकररहीथी।घरमेंमातमछायाहुआहै।कुमकुमदेवीशांतहोकरअपनीसौतेलीपुत्रीकोएकटकदेखरहीथी।वहींइसदर्दनायकघटनासे¨बदूमंडलपरभीविपत्तिकापहाड़टूटपड़ाहै।इकलौतीपुत्रीसुजाताकीमौतसेउसकीमांनीरादेवीकारो-रोकरबुराहालबनाहुआहै।वहींदिलीपसाहुकीपुत्रीमहालक्ष्मीकीमौतकीखबरसेलोगोंकाजमावड़ाउनकेघरपरदेरशामतकलगारहा।महालक्ष्मीकीमांरेखादेवीछातीपीट-पीटकररोरहीथी।इसदौरानवहबार-बारबेहोशहोजातीथी।होशमेंआतेहीअपनीबेटीकोखोजनेकेलिएदौड़पड़तीथी।²श्यकोदेखसभीलोगोंकीआंखेंनमहोगई।इसघटनानेपूरेगांवकोझकझोरकररखदियाहै।गांवमेंमातमपसराहै।नतोकोईदुकानखुलीऔरनहीकिसीघरमेंखानाबना।लोगोंनेबतायाकि30जुलाईकीयहकालीतारीखकोर्थूगांवकेस्वर्णिमइतिहासकाकालादिनबनगयाहै।इसेकोईभूलनहींपाएंगे।

By Collier