शारीरिक शिक्षा

शक्तिशरणपंत,आजमगढ़:जन्मलियातोधरतीपर,बड़ेहुएतोधरतीसेनाताकीकीमतसमझमेंआई।घरपरमौसमीखेतीतोहोतीथीलेकिनउससेसंतोषनहींमिला,क्योंकितबधरतीसेलेतेतोथेमगरलौटानेकेनामपरकुछनहीं।पिताशिवनाथसिंहथोड़ा-बहुतपौधलगातेथे,जिसेदेखकरमनमेंआयाकिपौधोंकीनर्सरीलगाईजाए।उससेदोतरहकेफायदेहोंगे।एकओररोपणकेलिएपौधोंकीकमीनहींहोगीऔरदूसरीओरकुछआमदनीभीहोजाएगी।

इसीसोचकेसाथवर्ष1994मेंअजतमगढ़ब्लाककेकोटागांवनिवासीएमएससी(कृषि)पासवंशगोपालसिंहनेगांवमेंही10बिस्वामेंविभिन्नप्रजातिकीनर्सरीतैयारकीतो37हजारपौधोंकीबिक्रीसेलगभगएकलाखप्राप्तहुआ।उसकेबादतोहरियालीकीराहपरउनकेकदमबढ़तेगएऔरआजगांवसेहटकरशहरसेसटेहाफिजपुरमें22बीघाजमीनलीजपरलेकरनर्सरीकाकारोबारकररहेहैं।उनकीशिक्षाभीइसव्यवसायमेंसहायकबनरहीहै।

खुदके60फीसद,बाकीगैरप्रांतोंसेमंगातेपौधे

आजमगढ़:जयभारतनर्सरीकेसंचालकवंशबहादुरसिंहकेअनुसारनर्सरीमें60फीसदपौधेखुदतैयारकरतेहैं,जबकिबाकीपौधेआंध्रप्रदेश,पूनावकोलकाताआदिसेमंगातेहैं।इसकालाभयहमिलताहैकियहांआनेवालोंकोसभीप्रकारकेपौधेएकहीस्थानपरमिलजातेहैं।पांचरुपयेसेलेकर15हजारतककेपौधेकीमांगबनीरहतीहै।पिछलेसालबारिशदेरसेहोनेकेकारणमांगकुछकमथीलेकिनइसबारसमयपूर्वबारिशसेडिमांडबढ़गईहै।

लीचीसेलेकरसंतरातक

आजमगढ़:नर्सरीमेंलीची,मोसम्मी,सेव,संतरा,आम,अमरूद,आंवला,बेल,अनार,नींबू,चीकू,नाशपाती,अंजीर,सहतूतसमेतलगभगसभीफलदारपौधेहैंलेकिनआमऔरअमरूदकीमांगअधिकहै।बाकीलीची,संतराआदिलोगदरवाजेकीशोभाबढ़ानेकेलिएखरीदतेहैं,जिनकीसंख्याकमहै।

खुदकेसाथ75परिवारभीखुशहाल

आजमगढ़:नर्सरीसंचालकवंशगोपालसिंहकहतेहैंकिनर्सरीकेकारोबारसेजहांपरिवारकीखुशियोंकासंसारमिलगयावहीं25महिलाऔर50पुरुषोंकाभीपरिवारखुशहालरहताहै।इसमें32कर्मचारीस्थायीहैंतोबाकीकोभीपूरेसालगार्डेननिर्माणकाकामदिलातेहैं।कहतेहैंकिपूराभारतखुशहालहो,इसकामनाकेसाथनामभीजयभारतनर्सरीरखदिया।सपनाभीसचसाबितहोरहा,क्योंकिपूर्वांचलकेजनपदोंकेसाथबिहारतकहमारीनर्सरीकेपौधोंकीमांगहै।शायदहीकोईऐसीप्रजातिहोगीजोयहांनहो।सजावटीसेलेकरफलदारवसभीप्रकारकेफूलऔरसब्जीकेपौधेलेनेकेलिएदूर-दराजसेभीलोगआतेरहतेहैं।

By Cooper