शारीरिक शिक्षा

जागरणसंवाददाता,अंबाला:डीसीअशोककुमारनेबतायाकिसुप्रीमकोर्टकेआदेशोंकीअनुपालनामेंप्रदेशसरकारनेछोटेवसीमांतकिसानोंकोपरालीनजलानेपरगैर-बासमतीधानपर100रुपयेप्रतिक्विंटलप्रोत्साहनराशिदेनेकाफैसलाकियाहै।यहीनहींगैर-बासमतीधानकेफसलअवशेषोंकेप्रबंधनकेलिएकस्टमहाइरिगसेंटरवस्ट्रॉ-बेलरयूनिटसंचालकोंकोपरिचालनलागतकेरूपमें1000रुपयेप्रतिएकड़काखर्चसरकारद्वारावहनकियाजाएगा।उन्होंनेबतायाकिमुख्यमंत्रीमनोहरलालनेउद्योग,नवीकरणीयऊर्जाऔरपरिवहनविभागोंकोहिदायतेंदीहैं,किपरालीकाउद्योगोंमेंउपयोगऔरप्रयोगकरनेकेलिएलिकस्थापितकरेंताकिपरालीकासदुपयोगकियाजासके।सहायककृषिअभियंताविनीतमरवाहानेबतायाकिफसलअवशेषोंकेउचितनिपटानऔरएक्स-सीटूवइन-सीटूप्रबंधनकेउचितक्रियान्वयनकेलिएनोडलअधिकारीनियुक्तकियाहै।हरजिलेमेंकंट्रोलरूपभीबनायाजारहाहै।उन्होंनेबतायकिएनवायरमेंटकंपनसेशनकेतहततहतमुलानामें2,धनौरामें3,सरदेहड़ीमें2मामलेदर्जकिएगएहैं,जबकिटगैंल,डुलयानी,सहेला,कालपीऔरनन्हेड़ीमें1-1मामलादर्जकियागयाहैं।प्रतिमामलेमें2500-2500सौरुपयेजुर्मानाकरकेराशिवसूलीगईहै।

By Daniels