शारीरिक शिक्षा

नईदिल्ली:केंद्रीयवित्तएवंकॉर्पोरेटअफेयर्सराज्यमंत्रीअनुरागठाकुरनेयूपीएकालीनपूर्ववित्तमंत्रीपी.चिदंबरमकेतथ्यहीनबयानोंपरएकस्पष्टऔरतथ्यात्मकखंडनकियाहै.अनुरागठाकुरनेकहाहैकिनेतृत्वहीनकांग्रेसआर्थिकआंकड़ोंकीहेराफेरीसेसनसनीफैलानाचाहतीहै.

अनुरागठाकुरनेकहा,'भारतीयअर्थव्यवस्थालचीली हैऔरआनेवालेसमयमेंलगातारसुधारोंकेआधारपरपलटावकरेगी.वैश्विकआपदाकेदौरमेंयहकठिनसमयजरूरहैलेकिनभारतीयअर्थव्यवस्थाअबभीकाफीमजबूतबनीहुईहै.मुझेआश्चर्यनहींहैकिक्योंपूर्ववित्तमंत्रीनेकठिनआंकड़ोंकोनजरअंदाजकरनाचुनाऔरइसकेबजायवो'व्हाटअबाउटरी'केसाथआगेबढ़ेक्योंकिसदाहीकांग्रेसनेतृत्वनेइसअनजानदृष्टिकोणकोअपनातेहुएइसेअपनाहथियारबनायाहै.'

उन्होंनेकहा,'लगातारसुधारोंऔरमजबूतबुनियादीसिद्धांतोंनेयहसुनिश्चितकियाहैकिवित्तवर्ष2020-21कीपहलीतिमाहीमेंभारतको24.4%केसंकुचनसेवित्तवर्ष2020-21कीचौथीतिमाहीमें1.6प्रतिशतकीवृद्धिहुईहै.पूर्ववित्तमंत्रीचिदंबरमद्वाराभारतीयअर्थव्यवस्थाकेनिराशाजनकपूर्वानुमानकेमुद्देपरठाकुरनेकहा,'आपभारतीयउद्यमियों,छोटेव्यवसायों,व्यापारियोंऔरएमएसएमईकोखुदकोपुनर्जीवितकरनेकीक्षमतापरसंदेहकरतेहैंजबकिविभिन्नअंतर्राष्ट्रीयएजेंसियोंनेभारतकीविकासदरकोवित्तवर्ष2021-22में12.5%बढ़नेकाअनुमानलगायाहै,जिससेहमअनुमानितदोहरेअंकोंकीवृद्धिकरनेवालीएकमात्रप्रमुखअर्थव्यवस्थाबनेहैं.'

वित्तराज्यमंत्रीठाकुरनेपूर्ववित्तमंत्रीसेसवालकरतेहुएपूछा,'क्याभारतीयअर्थव्यवस्थाअलग-थलगद्वीपहै?क्याइसमहामारीमेंविश्वकीअन्यप्रमुखअर्थव्यवस्थाओंकोजीडीपीसंकुचनकासामनानहींकरनापड़ाहै?क्याआपनहींजानतेकिफ्रांस,जर्मनी,इटली,यूकेमेंक्रमश:8.2%,4.9%,8.9%और9.9%कीगिरावटआईहै.कनाडा,रूस,दक्षिणअफ्रीका,अमेरिकानेभीपिछलेएकसालमेंअपनेसकलघरेलूउत्पादमेंसंकुचनदेखाहै.वैश्वीकृतदुनियामेंव्यवधानोंकेबावजूद,भारतलचीलाबनाहुआहै.'

अनुरागठाकुरनेपूर्ववित्तमंत्रीसेअपनीनिराशाऔरकयामतकेदिनकीभविष्यवाणीकीआभासीदुनियासेबाहरआनेकोकहाहै.साथहीउन्होंनेकहाकिलॉकडाउननेलोगोंकीजानबचाई,धीरे-धीरेअनलॉकनेअर्थव्यवस्थाकोबूस्टकरनेकीहरीझंडीदी.अनुरागठाकुरनेजोरदेकरकहाकिआर्थिकतथ्यकईबिंदुओंकोबतातेहैं.

उन्होंनेकहाकिरिकॉर्ड1.44लाखकरोड़रुपयेकाजीएसटीसंग्रहअबतककासबसेअधिकहै.साथहीयहइसकीपुष्टिकरताहै.हमनेयात्रीवाहनोंकीबिक्री,दोपहियावाहनोंकीबिक्री,तेलकीखपत,इस्पातउत्पादन,सीमेंटउत्पादन,अंतर्राष्ट्रीयएयरकार्गोसहितअन्यक्षेत्रोंमेंवृद्धिदर्जकी. हाई-फ्रीक्वेंसीमासिककोरसेक्टरडेटासेयहभीपताचलताहैकि8प्रमुखउद्योगोंमेंरिबाउंडदेखागयाथा.

विनिर्माणक्षेत्रमेंइजाफा

आठप्रमुखउद्योगोंकासूचकांकमार्च2021में11.4%औरअप्रैल2021मेंएकचौंकादेनेवाला56.1%बढ़ा.नवीनतमसकलघरेलूउत्पादकेआंकड़ोंसेपताचलताहैकिजनवरी-मार्च2021तिमाहीमेंविनिर्माणक्षेत्रमें6.9%,निर्माणक्षेत्रमें14.5%,स्टीलऔरसीमेंटक्षेत्रमेंवृद्धिहुई27.3%और32.7%क्रमशःमार्च2021मेंदेखनेकोमिली.ध्यानदेनेयोग्यबातयहहैकियहवृद्धिमार्च2020कीपूर्व-लॉकडाउनअवधिसेअधिकहै.दोनोंक्षेत्रोंमेंअप्रैल2021में400%और549%कीवृद्धिहुई.

नकदहस्तांतरणकेमुद्देपरजिसपरपी.चिदंबरमनेदावाकियाथाकिऐसानहींहुआथाऔरइसेशुरूकियाजानाचाहिए,इसपरठाकुरनेतथ्योंकोबतातेहुएउनकाखंडनकिया.उन्होंनेकहाकिएनडीएकार्यकाल2014-19केदौरान,सरकारनेयूपीएकार्यकाल2009-14केदौरानगेहूंऔरचावलकीखरीदपर8लाखकरोड़रुपयेबनाम3.74लाखकरोड़रुपयेकावितरणकिया.मोदीसरकारने2009-14मेंयूपीएकेकार्यकालकेदौरानखरीदीगईदालकीतुलनामेंएमएसपीपर74गुनाअधिकदालखरीदी.

एनडीएसरकारनेपिछले5वर्षोंमें306.9मिलियनटनधानऔर162.7मिलियनटनगेहूंकीखरीदकी,जबकियूपीएकेकार्यकालमें2009-13कीअवधिमेंकेवल176.8मिलियनटनधानऔर139.5मिलियनटनगेहूंकीखरीदकीगईथी.ठाकुरनेकहाकिकांग्रेसपार्टीनेकृषिकानूनोंकेमुद्देपरकिसानोंकोगुमराहकियाऔरविरोधप्रदर्शनमेंलगेरहे.आजकिसानखुशहैंऔरयहांभीकांग्रेसकाझूठबेनकाबहोगयाहै.

भारतनेअबतककीसबसेअधिकगेहूंखरीद405लाखएलएमटीदर्जकीहैजोआरएमएस2020-21में390एलएमटीसे4%अधिकहै.केएमएस2020-21केदौरानधानकीखरीद789एलएमटी केउच्चस्तरकोछूगई.इसकेअलावा,डीबीटी केमाध्यमसेपीएमकिसानकी8वींकिस्तकेरूपमेंसीधाकिसानोंकोउनकेखातेमें19,000करोड़रुपयेडालेगये.ठाकुरनेआगेकहा,'क्यायहकिसानकोहाथमेंनकदीनहींदेताहै?'

ठाकुरनेपीचिदंबरमसेपूछाकिएकओरतोवहनकदहस्तांतरणचाहतेहैं,लेकिनदूसरीओरयूपीएनेअपनेकार्यकालकेदौरानगरीबोंकेलिएकितनेबैंकखातेखोले?मोदीसरकारने42करोड़जनधनखाताखोलकरसिस्टममेंलीकेजकोरोकदियाहैताकियहसुनिश्चितहोसकेकिहररुपयासीधापात्रलाभार्थीतकतेजीसेपहुंचे.यहांतककिप्रत्यक्षबैंकहस्तांतरणकेमाध्यमसेCOVID19महामारीकेदौरानभीइसनेलाखोंलोगोंकोवित्तीयसहायता प्रदानकीहै.

उन्होंनेपूर्ववित्तमंत्रीकोयाददिलाया,'एनएसएपीकेतहतविधवाओं,दिव्यांगों,वरिष्ठनागरिकोंको,बीओसीडब्ल्यूकेतहतभवनऔरनिर्माणश्रमिकोंको,किसानोंकेलिएफ्रंटलोडेडपीएम-किसान,ईपीएफओऔरउज्ज्वलाको24%योगदानदियागयाथा.कुलहस्तांतरण68,000करोड़रुपयेसेअधिकहै.क्यायहहाथमेंनकदीनहींहै?'

इसकेअलावामनरेगाकेमुद्देपरठाकुरनेचिदंबरमसेसवालकियाऔरपूछा,'क्याआपकोयूपीएकेदौरानमनरेगाकोआवंटनयादहै?एनडीएसरकारनेपिछलेसालCOVID-19अवधिकेदौरानआवंटनको61500करोड़रुपयेसेबढ़ाकर1लाखकरोड़रुपयेसेअधिककरदिया.हमनेमजदूरीकोभीबढ़ाकर202रुपयेकरदिया,जिससेकुलमिलाकर300करोड़व्यक्तिदिवसकामसुनिश्चितहोगया.क्यायहश्रमिकोंकेहाथमेंनकदनहींहै?'

सिलसिलेवारढंगसेवित्तराज्यमंत्रीअनुरागठाकुरनेपूर्ववित्तमंत्रीऔरकांग्रेसनेतापी.चिदंबरमकोकराराजवाबदियाहै,जबकियूपीएसरकारनेआपकेवित्तमंत्रीकेकार्यकालकेदौरानखराबऋणोंकावितरणकियाथा.हमनेउद्योगकोअपनेव्यवसायकोबनाएरखनेऔरपुनर्जीवितकरनेकेलिएईसीजीएलएसयोजनाकेमाध्यमसे3लाखकरोड़रुपयेकीसरकारीगारंटीप्रदानकीहै,जिसमेंएमएसएमई,हॉस्पिटैलिटी,टूरिज्म,खेलक्षेत्र,स्वास्थ्यसेवाआदिसभीशामिलहैं.मोदीसरकारनेअपनेपूर्ववर्तीयूपीएकेविपरीत,एकभागीदारीऔरप्रतिक्रियादृष्टिकोणअपनायाहै.सार्वजनिकऔरनिजीक्षेत्रकेबैंकों,एनबीएफसीकेजरिए92लाखसेअधिकखातोंमें2.65लाखकरोड़रुपयेसेअधिककीमंजूरीदीगईहै,क्यायहव्यवसायोंकेलिएनकदप्रवाहप्रदाननहींकरताहै?

यहभीपढ़ें:कांग्रेसनेगुजरातजैसेराज्योंमेंकोरोनासेहुईमौतोंकीसंख्याकमदिखानेकालगायाआरोप,चिदंबरमबोले-जवाबदेसरकार

By Cooper