शारीरिक शिक्षा

रांची,जासं।राष्ट्रीयस्वयंसेवकसंघ(आरएसएस)कीचिंतनबैठकरांचीमेंशनिवारकोशुरूहोगईहै।सरकार्यवाहभैय्याजीजोशीसंघपरिवारकेकईप्रमुखसदस्योंऔरस्‍वयंसेवकोंकीबैठकलेरहेहैं।इसमेंदेशकेप्रमुखमसलोंपरगहनमंथनकियाजारहाहै।यहचिंतनबैठकअगलेतीनदिनोंतकचलेगी।दिनभरचलनेवालीइसबैठकमेंपर्यावरणसंरक्षण,जलसंचयनसहितकईमहत्वपूर्णविषयोंपरचर्चाकीजानीहै।विधानसभाचुनावकोदेखतेहुएराज्यसरकारकेकामकाजकीभीसमीक्षाहोसकतीहै।एकऔरदोसितंबरकोझारखंडएवंबिहारकेतीनोंप्रांतोंकेपदाधिकारियोंतथाउत्तर-पूर्वक्षेत्रकेपदाधिकारियोंकेसाथसहसरकार्यवाहदत्तात्रेयहोसबलेबैठककरेंगे।इसमेंसंघविस्तारसहितकईविषयोंपरचर्चाहोगी।

देशजतकनीककीओरफिरसेलौटनाहोगा:भैय्याजीजोशीराष्ट्रीयस्वयंसेवकसंघ(आरएसएस)केसरकार्यवाहसुरेशजोशीउर्फभैय्याजीजोशीनेकहाकिहमेंफिरसेदेशजतकनीककीओरलौटनाहोगा।कुछसमयपहलेअन्नउत्पादनकोबढ़ानेकेलिएजिसतकनीककाइस्तेमालकियागया,आजउसकासाइडइफेक्टज्यादाहै।लोगफिरसेजैविकखेतीकीओरलौैटरहेहैं।इसलिएचाहेसाबुनवतेलकाउत्पादनहोयाबिस्कुटका,इसेहमअपनेगांवमेंहीकरसकतेहैं।विकासभारतीनेइसइलाकेमेंयहकरकेदिखायाहै।

वेशुक्रवारकोविकासभारतीकेप्रकल्पोंकोदेखनेकेलिएगुमलाकेबिशुनपुरपहुंचेथेऔरइसकेभ्रमणकेबादविकासभारतीकेकार्यकर्ताओंकोसंबोधितकररहेथे।भैय्याजीजोशीनेकहाकिइसजनजातीयक्षेत्रमेंबिशुनपुरस्थितविकासभारतीआधुनिकतीर्थस्थलकेरूपमेंविकसितहोरहाहै।जिसतरहलोगमहात्मागांधी,जयप्रकाशनारायण,दीनदयालउपाध्यायवनानाजीदेशमुखकोकामकेलिएयादकरतेहैं,उसीतरहलोगअशोकभगतकोयादकरेंगे।

विकासभारतीकेसचिवपद्मश्रीअशोकभगतनेउन्हेंविकासभारतीकेसभीप्रकल्पोंमेंलेजाकरघुमाया।अनाथबच्चोंसेमुलाकातकराई।भैय्याजीनेबच्चोंसेअपनीसंक्षिप्तबातचीतमेंचारित्रिकविकासपरबलदिया।भैय्याजीकेसाथअखिलभारतीयसहप्रचारकप्रमुखअरुणजैन,प्रांतसंघचालकसच्चिदानंदलालअग्रवाल,प्रांतप्रचारकरविशंकर,प्रांतसहकार्यवाहराकेशलालभीथे।

भैय्याजीनेकहाकिसकारात्मकसोचऔरपरिणात्मककार्यसेहीसमाजमेंबदलावआताहै।विकासभारतीकेकामोंकोदेखनेकेबादमैंनेयहांलोकनायकजयप्रकाशनारायण,राष्ट्रपितामहात्मागांधीऔरजनसंघकेसंस्थापकपंडितदीनदयालउपाध्यायएवंनानाजीदेशमुखकेजीवनदर्शनपरआधारितविकासऔरबदलावकोमहसूसकिया।परिणात्मककार्यकलापसेसमाजकेअंतिमव्यक्तिकोविकासकालाभमिलताहै।लोगोंकोजबजागरूकऔरप्रेरितकरनेकाकामकियाजाताहै,तबबदलावनजरआताहै।

एककार्यक्रममेंउन्होंनेकृषिकेक्षेत्रमेंबेहतरकामकरनेवाले27किसानोंकोसम्मानितकिया।जिलाकृषिविज्ञानकेंद्रकेप्रधानकृषिवैज्ञानिकडॉ.संजयकुमारपांडेयनेउन्हेंकृषिफार्महाउसमेंअपनाईजारहीतकनीककेबारेमेंजानकारीदी।

विकासभारतीकेकाममॉडलकेरूपमेंअपनानेकीजरूरत:भैय्याजीनेकहाकिहमेंराष्ट्रनिर्माणकेलिएसमाजकेअंतिमव्यक्तिकेबीचजमीनपरकामकरनेकीजरूरतहैऔरयहीजरूरतहमेंइसक्षेत्रमेंभ्रमणकेदौरानमहसूसहुआहै।सकारात्मकपरिवर्तनसेलोगोंकेजीवनस्तरमेंइससंस्थानेबदलावलानेकीजोकोशिशकीहै।उसेअन्यजगहोंमेंमॉडलकेरूपमेंअपनानेकीजरूरतहै।

स्वस्थसमाजहीदेशकोकुछदेसकताहै:सरकार्यवाहनेकहाकिस्वस्थ्यरहनेपरहीसमाजएवंदेशकेलिएकुछकरसकतेहैं।इसलिएगांवोंमेंहीस्वरोजगारकेउपाएकिएजानेचाहिए।गांवोंमेंयदिबिस्कुटवतेलबनाएंगे,तोसामानभीशुद्धमिलेगाऔरलोगोंकोरोजगारभीमिलेगा।शुद्धताकेकारणशहरोंमेंभीलोगआजगांवोंमेंबनेसामानकोखोजतेहैं।

विश्वकोराहदिखासकतीहैभारतीयसंस्कृति:भैय्याजीनेकहाकिभारतमेंजन्मलेनासौभाग्यकीबातहै।भारतविकासशीलदेशनहींहै।इसकीसंस्कृतिऐसीहै,जोविश्वकोराहदिखासकतीहै।देशमेंपरिवर्तनहोरहाहै।इसकेआपसभीनिमितबनरहेहैं।इससेपहलेजतराटानाभगतकीजन्मस्थलीपरजाकरउन्हेंनमनकियाऔरकहाकिभगवानबिरसामुंडावजतराटानाभगतसेप्रेरणालेनेकीजरूरतहै।

किसानोंसेकीमुलाकात:जिलाकृषिविज्ञानकेंद्रकेफार्महाउसमेंकिसानोंसेमुलाकातकी।उनसेबातचीतकी।किसानोंनेउसेबतायाकिएकसमयथाजबखेतीकरनेसेसालभरकाअनाजनहींहोताथा,लेकिनअबसमयबदलगयाहै।विकासभारतीनेआमकीबागवानीसेउनलोगोंकेजीवनकोबदलनेकाकामकियाहै।अबवेआमबेचकरआयकररहेहैं।सब्जीभीउपजाकरबेचरहेहैं।खेतखलिहानमेंसमयदेरहेहैं,जिससेसकारात्मकबदलावभीआयाहै।

यहां-यहांगएभैय्याजी:भैय्याजीजोशीविकासभारतीकेबलातूफार्महाउसगए।उसकेबादचेंगरीमेंजतराटानाभगतकेस्मारकपरमाल्यार्पणकिया।कृषिवैज्ञानिकोंसेबातचीतकी।सृजनपरिसरस्थितराष्ट्रपितामहात्मागांधीकीप्रतिमाकाअनावरणकिया।ज्ञाननिकेतनमेंसंतालवीरांगनाफुलोझानोकीप्रतिमाकाअनावरणकिया।ज्ञाननिकेतनमेंबालिकाछात्रावासऔरस्वच्छभारतकेतहतसामुदायिकशौचालयकाउद्घाटनभीकिया।

इसदौरानविकासभारतीकेसचिवअशोकभगत,सांसदसमीरउरांव,एनजीसीकेप्रधानराजेंद्रप्रसादपांडेय,डॉ.अजयकुमारसिंह,विकाससिंह,खाद्यसुरक्षाआयोगकीसदस्यरंजनाकुमारी,वैज्ञानिकसंजयकुमारपांडेय,अटलबिहारीतिवारी,महेंद्रभगत,प्रवीरपात्रा,पंकज¨सह,विनोदभगत,बीडीओउदयकुमारसिन्हा,संजयकुमारआदिउपस्थितथे।

By Craig