शारीरिक शिक्षा

नयीदिल्ली,12अगस्त(भाषा)कांग्रेसकेवरिष्ठनेताजयरामरमेशनेरॉकेटभू-अवलोकनउपग्रहईओएस-03कोकक्षामेंस्थापितकरनेमेंसफलतानहींमिलनेकेबादबृहस्पतिवारकोकहाकिभारतीयअंतरिक्षअनुसंधानसंगठन(इसरो)कोएकवैज्ञानिकउपक्रमकेरूपमेंकामकरनेदेनाचाहिए।केंद्रीयमंत्रीजितेंद्रसिंहनेउनपरपलटवारकरतेहुएकहाकिकांग्रेसकेशासनकालमें‘अंतरिक्षसंबंधीकईगडबड़ियांहुईं’औरइनमेंजानेमानेअंतरिक्षवैज्ञानिकविक्रमसाराभाईकी‘संदिग्धमृत्यु’भीशामिलहै।इसरोकाजीएसएलवीरॉकेटभू-अवलोकनउपग्रहईओएस-03कोकक्षामेंस्थापितकरनेमेंबृहस्पतिवारकोविफलरहा।रॉकेटके‘कमतापमानबनाकररखनेसंबंधीक्रायोजेनिकचरण’मेंखराबीआनेकेकारणयहमिशनपूरीतरहसंपन्ननहींहोपाया।भारतीयअंतरिक्षअनुसंधानसंगठन(इसरो)नेबतायाकिपहलेऔरदूसरेचरणमेंरॉकेटकाप्रदर्शनसामान्यरहाथा।विज्ञानएवंप्रौद्योगिकी,पर्यावरण,वनएवंजलवायुपरिवर्तनसंबंधीसंसदकीस्थायीसमितिकेप्रमुखरमेशनेट्वीटकिया,‘‘इसरोवापसीकरसकताहैऔरकरेगा।बहरहाल,उसेउसीतरहसेवैज्ञानिकएवंप्रौद्योगिकीउपक्रमकेतौरपरकामकरनेदेनाचाहिएजैसेविक्रमसाराभाईऔरसतीशधवननेबनायाथा।अबइसकोलेकरबहुतज्यादाराजनीतिकदिखावाहै।’’साराभाईकोभारतीयअंतरिक्षकार्यक्रमकाजनककहाजाताहै।1971मेंउनकानिधनहोगयाथा।’’रमेशपरपलटवारकरतेहुएजितेंद्रसिंहनेकहा,‘‘जयरामजी,कृपयायहमतभूलिएकिविक्रमसाराभाईकीसंदिग्धमृत्युसमेतअंतरिक्षसंबंधीज्यादातरगड़बड़ियांकांग्रेसकेशासनकालकेदौरानहुईं।इसहिसाबसेदेखेंतोअगरकांग्रेसराजनीतिकदखलसेपरहेजकरतीतोसाराभाईऔरज्यादावर्षोंतकयोगदानदेसकतेथे।’’