शारीरिक शिक्षा

कोरोनासंकटकेबीचदिल्लीमेंऑक्सीजनकीकिल्लतकामसलादिल्लीहाईकोर्ट(HC)पहुंचचुकाहै.सुनवाईकेदौरानदिल्लीसरकारकेवकीलनेकहाकिदिल्लीकोऑक्सीजनकाअपनाआवंटितकोटानहींमिलरहाहै.अन्यराज्योंकेविपरीतदिल्लीकोवहनहींमिलरहाहै,जिसकीउसेआवश्यकताहै.केंद्रनेहमेंअपनेयहांटैंकरमंगानेकोकहाहै,हमेंटैंकरकहांसेमिलेंगे?उधर,तीनबड़ेअस्पतालोंनेऑक्सीजनकीकमीकामुद्दाउठाया. जिसपरHCनेदिल्लीसरकारसेअस्पतालोंकीआवश्यकताओंकोतुरंतदेखनेकेलिएकहा.

दिल्लीकेसीतारामभारतीयअस्पताल,वेंकेटेश्वरअस्पतालऔरइंस्टीट्यूटऑफब्रेनएंडस्पाइन,लाजपतनगरनेहाईकोर्टकोबतायाकिउनकेयहांऑक्सीजनकीकिल्लतहै.वहीं,दिल्लीसरकारकीदलीलऔरकेंद्रकीदलीलसुननेकेबादHCनेकहा​​हैकिराजधानीकोप्राप्तऑक्सीजनआपूर्तिपरकेंद्रऔरदिल्लीसरकारकेआंकड़ोंकेबीचविसंगतियांहैं.

इसकेअलावाहाईकोर्टनेदिल्लीसरकारकोयहभीसुनिश्चितकरनेकानिर्देशदियाकिकोईभीदवायाउपकरणएमआरपीसेअधिकदामपरनबेचेजाएं.इसनियमउल्लंघनकरनेवालोंकेखिलाफकेकार्रवाईकेजानीचाहिए. हाईकोर्टनेICMRकोकोर्टमेंपेशहोनेकेलिएकहाहै.

दिल्लीसरकारनेकहाकिहमनेदिल्लीकेलिएजोकियावोकेंद्रकेमुकाबलेबेहतरहै.दिल्लीसरकारकीओरसेकहागयाकिहमने20MT,25MT,20MT,26MT,12MT,16MTऔर15MTके7टैंकरप्राप्तकरनेमेंकामयाबीहासिलकीहै.

इसपरसॉलिसिटरजनरलतुषारमेहतानेकहाकिहमेंकेंद्रपरजिम्मेदारीडालनेपरआपत्तिहै.कईगैर-औद्योगिकराज्यहैंजोखुदहीऑक्सीजनटैंकरोंकीव्यवस्थाकररहेहैं,दिल्लीसरकारकोकुछनईसोचकीजरूरतहै.

उधर,केंद्रनेदिल्लीHCमेंएकअर्जीदायरकीहै,जिसमेंकहागयाहैकिवहकलHCद्वारापारितआदेशकोवापसलेले.कमसेकमअवमानना​​काहिस्साआदेशसेहटायाजाए.हालांकि,दिल्लीसरकारनेकलकेआदेशकोवापसलेनेकेलिएकेंद्रकेआवेदनकाविरोधकिया.

दरअसल,सुनवाईकेदौरानहाईकोर्टनेकहाथाकिपानीअबसिरसेऊपरचलागयाहै,किसीभीहालमेंआज(1मई)490MTऑक्सीजनपहुंचनीचाहिए.अगरइसकापालननहींकियागयातोअदालतकीअवमाननामानाजाएगा.

गौरतलबहैकिशनिवारकोदिल्लीकेबत्राअस्पतालमेंऑक्सीजनखत्महोगईथी.इसवजहसे12कोविडमरीजोंनेअपनादमतोड़दिया.अस्पतालप्रशासनकीतरफसेबतायागयाथाकिसभीसेसंपर्कसाधागयाथा,लेकिनकहींसेकोईमददनहींमिली.वहींजबऑक्सीजनकीआपूर्तिकीभीगईतोवोकाफीदेरसेहुईजिसवजहसेमरीजोंकीमौतहोगई.

मालूमहो किदिल्लीमेंइससमयऑक्सीजनकीभारीकिल्लतहोरहीहै.जिसकेचलतेकेंद्रऔरदिल्लीसरकारआमने-सामनेहैं.कईमरीजऑक्सीजनकीकमीकेचलतेअस्पतालोंमेंदमतोड़चुकेहैं.