शारीरिक शिक्षा

संवादसहयोगी,लखीसराय।तमामप्रयासकेबावजूदसदरअस्पतालकीव्यवस्थानहींसुधररहीहै।खासकरडाक्टरोंकीअनियमितउपस्थितियहांकीव्यवस्थामेंसबसेबड़ाअड़ंगाहै।इसकोलेकरजिलाधिकारीसंजयकुमारसिंहनेशनिवारकोसदरअस्पतालकाऔचकनिरीक्षणकिया।जिलाधिकारीकेनिरीक्षणमेंड्यूटीसेगायबरहनेवालेचिकित्सकोंकीभीउपस्थितिदर्जपाई।उन्होंनेइसेगंभीरमामलाबतातेहुएसिविलसर्जनडा.डीकेचौधरीकोसंबंधितडाक्टरकेविरुद्धकठोरकार्रवाईकरकेउन्हेंअवगतकरानेकानिर्देशदिया।अचानकजिलाधिकारीकेअस्पतालपहुंचनेपरचिकित्सकोंएवंस्वास्थ्यकर्मियोंमेंअफरा-तफरीमचगई।इसदौरानइमरजेंसीमेंडा.शाहिदवसीम,महिलाओपीडीमेंडा.कुमारअमितएवंसर्जरीओपीडीमेंडा.अशोककुमारसिंहमौजूदपाएगए।जिलाधिकारीकेअस्पतालपहुंचनेपरआनन-फाननमेंडा.संगीतारायभीअस्पतालपहुंची।डा.हरदीपबागड़िया,डा.राजअभयएवंडा.विनयकुमारआवेदनदेकरपरीक्षादेनेगएथे।जबकिडा.अमितकुमारसिन्हा,डा.मणिभूषणकुमार,डा.अश्विनीकुमार,डा.आलोककुमार,डा.अविनाशकुमारसत्यम,डा.रूपा,डा.आरकेउपाध्यायएवंडा.ज्योत्सनाबिनासूचनाड्यूटीसेगायबपाएगए।डीएमनेजबचिकित्सकोंकीउपस्थितिपंजीमंगाकरदेखीतोबिनासूचनाफरारचिकित्सकोंमेंडा.ज्योत्सनाकोछोड़करसभीकीउपस्थितिदर्जपाईगई।जिलाधिकारीनेकहाकिडाक्टरोंकाड्यूटीसेबिनासूचनाफराररहनाहीअपराधहैपरंतुफराररहनेकेबादउपस्थितिदर्जकरनातोगंभीरअपराधहै।ऐसेचिकित्सककेविरुद्धकठोरकार्रवाईहोनाजरूरीहै।उन्होंनेसिविलसर्जनकोबिनासूचनाफराररहनेएवंफराररहनेकेबावजूदअग्रिमउपस्थितिदर्जकरनेवालेचिकित्सककेविरुद्धकठोरकार्रवाईकरउन्हेंअवगतकरानेकानिर्देशदिया।इसदौरानउन्होंनेअस्पतालप्रशासनकोपदस्थापितसभीचिकित्सकोंकीनियमितउपस्थितिसुनिश्चितकरानेकोलेकरठोसकदमउठानेकानिर्देशदिया।ड्यूटीसेफराररहनेवालेचिकित्सकोंसेस्पष्टीकरणमांगकरउसकीप्रतिलिपिउनकेअलावाविभागकोभीउपलब्धकरानेकोकहा।इसदौरानजिलाधिकारीनेप्रसवकक्ष,इमरजेंसी,ओपीडी,एक्स-रेक्लीनिकआदिकाभीनिरीक्षणकिया।प्रसवकक्षकीव्यवस्थासेउन्होंनेसंतुष्टिजताई।जबकिविगतचारदिनोंसेखराबपड़ेएक्स-रेमशीनकीअविलंबमरम्मतकरानेकानिर्देशदिया।इसदौरानसिविलसर्जनडा.डीकेचौधरी,डीपीएममु.खालिदहुसैन,सदरअस्पतालकेउपाधीक्षकडा.राकेशकुमार,प्रबंधकनंदकिशोरभारतीआदिमौजूदथे।