शारीरिक शिक्षा

चतरा,जासं।कभी-कभीकुदरतकागजबकरिश्मादेखनेकोमिलतीहै।जिसेकोईसहजभावसेयकीननहींकरसकताहै।लेकिनऊपरवालेकीलीलासेइंकारभीनहींकरसकताहै।वाक्याहंटरगंजप्रखंडकेऔरूगेरूआगांवकाहै।गांवकेएकघरसेदुल्हनकीडोलीनिकलनीथी,लेकिनऊपरवालेकोशायदयहमंजूरनहींथा।डोलीकीजगहहोनेवालीदुल्हनकीअर्थीनिकली।

दरअसलगांवनिवासीबब्लूसिंहकी20वर्षीयापुत्रीबेबीकुमारीकी29जूनकोबारातआनीथी।शादीकोलेकरतैयारियोंकोअंतिमरूपदियाजारहाथा।रिश्तेदारोंएवंदोस्तोंकेपरिवारकेदर्जनोंसदस्यआचुकेथे।बारातियोंकेसत्‍कारमेंकिसीप्रकारकाकोईकोरकसरनरहे,इसप्रकारकीव्यवस्थाकीजारहीथी।हल्दीकीरस्मकीतैयारियांचलरहीथी।

इसीबीचबेबीकीतबीयतखराबहोगई।उसेतेजबुखारआगया।परिवारकेसदस्यउसेलेकरहंटरगंजसामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रआए।डॉक्टरनेप्राथमिकउपचारकेबादमगधमेडिकलकॉलेजकेलिएरेफरकरदिया।परिजनउसेमगधमेडिकलकीजगहपटनालेगए।ताकिवहजल्दसेजल्दस्वस्थहोजाए।

लेकिनविधिकाविधानकुछऔरहीथा।29जूनकोउसकीबारातआनीथी।बारातबिहारकेगयाजिलासेआनाथा।बारातनिकलनेसेपहलेहीबेबीदुनियासेहमेशा-हमेशकेलिएविदाहोगई।30जूनकोवहदुल्हनबनकरडोलीपरबैठती,लेकिनघरसेउसकीडोलीनहीं,बल्किअर्थीनिकली।बेबीकीमौतसेपूरेगांवमेंशोककीलहरहै।वरपक्षकेलोगभीहतप्रभहैं।

By Craig