शारीरिक शिक्षा

मधुबनी।पंडौलप्रखंडकेभगवतीपुरस्थितआदिशक्तिमांभुवनेश्वरीकादरबारमिथिलाकेवास्तविकसांस्कृतिकपरिदृश्यकोउपस्थापितकरताहै।आजसेहजारोंवर्षपूर्वभगवतीपुरअमरावतीनगरकामुख्यकेंद्रथाआदिशक्तिमांभुनेश्वरीभगवतीकेनामपरहीइसग्रामकानामभगवतीपुरहै।मंदिरमेंमाताकाविग्रहअछ्वुतहैजोआदिप्राचीनप्रतीतहोताहै।

ज्ञातव्यहोकिसातवींसदीसे10वींसदीतकमिथिलामेंपालवंशकेराजाओंकाशासनथा।जिसकेअंतिमराजामदनपालकोपराजितकरबांग्लादेशीशासकनेसैन्यवंशकीस्थापनाकीउक्तवंशकेशासकबल्लासेननेहीअमरावतीनगरकेउत्तरीछोरपरभगवतीपुरग्राममेंसांगमाताविग्रहकोस्थापितकरवायाथा।भुवनेश्वरीभगवतीकीयहप्रतिमाहजारोंवर्षसेभीअधिकप्राचीनहै।तथाइतनाहीप्राचीनमाताकीबाएंभागमेंस्थितसूर्यप्रतिमाहैतथादाएंभागस्थितविष्णुकीप्रतिमाभीहै।वर्तमानमंदिरकाजीर्णोद्धाररामेश्वरसाहमौजेलालसाहद्वारानिर्माणकरवायागया।प्रत्येकनवरात्रमेंयहांविशेषवैदिकविधानकेअनुसारमाताकीविधिवतपूजाअर्चनाकीजातीहै।नवरात्रमेंदुर्गासप्तशतीकापाठअखंडरूपसेदिन-रातचलताहीरहताहै।इसकीपरंपराभीप्राचीनहै।नवरात्रमेंभक्तगणदूर-दूरसेयहांआतेहैं।कहाजाताहैकिजोभीभक्तयहांजिसकामनासेआतेहैंउनकीकामनाअवश्यपूर्णहोतीहै।यहांहोनेवालेसायंआरतीभीविशेषदर्शनीयहोताहै।यहांनवमीकेदिनयहांकुमारीकन्याओंकोभोजनभीअधिकसंख्यामेंकरायाजाताहै।

By Dale