शारीरिक शिक्षा

नयीदिल्ली,24दिसंबर(भाषा)दिल्लीकेविभिन्नविश्वविद्यालयोंकेछात्रों,नेताओं,बेटियोंकेसाथमहिलाओंऔरनागरिकसमाजकेकार्यकर्ताओंनेसंशोधितनागरिकताकानून(सीएए)केखिलाफमंगलवारकोमंडीहाउससेजंतर-मंतरतकनिकालेगएमार्चमेंभागलिया।प्रदर्शनकेदौरानसड़ककेकिनारेसुरक्षाबलोंकीभारीतैनातीरही।पुलिससेअनुमतिनहींमिलनेकेबावजूदयोगेंद्रयादवकीपार्टीस्वराजअभियानऔरजामियामिल्लियाइस्लामियाकेछात्रोंनेमार्चनिकाला।पुलिसनेकहाकिमंडीहाउसमेंनिषेधाज्ञालागूहै।यादवनेकहा,‘‘यहदुर्भाग्यपूर्णहैकिहमारेदेशमेंपुलिसकिसीचीजकेलिएअनुमतिनहींदेतीहै।हमनेचारदिनपहलेपुलिससेअनुमतिकेलिएसंपर्ककियाथा,लेकिनसोमवाररातकोहमेंसूचितकियागयाकिहमेंविरोधकरनेकीअनुमतिनहींहै।’’दोपहरकरीब12.45बजेमार्चशुरूहुआ।जिसमें‘हल्लाबोल’और‘छात्रएकताजिंदाबाद’,‘जयभीम’औरसरकारविरोधनारोंकीगूंजरही।इसमार्चमेंअनेकनागरिकोंनेभीहिस्सालिया।जवाहरलालनेहरूविश्वविद्यालय(जेएनयू),जामियामिल्लियाइस्लामियाऔरदिल्लीविश्वविद्यालयकेछात्रभीइसमेंशामिलहुए।प्रदर्शनकारियोंनेनएनागरिकताकानूनकेखिलाफअपनाअसंतोषव्यक्तकरनेकेलिएमार्चनिकाला।इसदौरानवहमहात्मागांधी,बीआरअंबेडकर,जाकिरहुसैन,भगतसिंह,चंद्रशेखरआजाद,अशफाकुल्लाखानजैसेस्वतंत्रतासेनानियोंकेकटआउटलिएहुएथे।इसकानूनकोलेकरदेशव्यापीविरोधप्रदर्शनहोरहेहैं।यादवनेकहा,‘‘प्रधानमंत्रीनेइसमुद्देपरऔरअधिकभ्रमपैदाकरदिया।उन्होंनेकहाकिएनआरसीपरचर्चानहींकीगईहै,लेकिनराष्ट्रपतिनेइसकेबारेमेंबातकीहै।यहांतककिगृहमंत्रीनेसंसदमेंएनआरसीकेबारेमेंबोलाहै।प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीकोबिल्कुलस्पष्टकरनाचाहिएकिएनआरसीलागूनहींहोगा।’’पूर्वछात्रनेताउमरखालिदनेकहाकिनकेवलनागरिकसंस्थाएंइसकानूनकाविरोधकररहीहैंबल्किकईमुख्यमंत्रियोंऔरदलोंनेभीइसकीआलोचनाकीहै।मार्चमेंशामिलहुईचितरंजनपार्ककीकिरननेसरकारपरदेशकी‘विविधताकोनष्ट’करनेआरोपलगाया।वहअपनेसाथअपनीदोबच्चियोंकोभीलाईथीं।किरननेकहा,‘‘जोभीहोरहाहैवे(उनकीबेटियां)टेलीविजनपरदेखरहींहैंऔरमैंउन्हेंस्कूलसेसीधेयहांलाईहूं।उन्हेंपताहोनाचाहिएकिदेशमेंक्याहोरहाहै।’’दिल्लीविश्वविद्यालयकीपूर्वछात्रासानियानेकहा,‘‘प्रदर्शनकरनाहमाराअधिकारहै।प्रदर्शनोंनेराजनीतिकनेतृत्वकोइसहदतकबौखलादियाहैकिवेअपनेबयानबदलरहेहैं।हमतबतकप्रदर्शनजारीरखेंगेजबतकसीएएवापसनहींलेलियाजाता।’’

By Cook