शारीरिक शिक्षा

नईदिल्ली।धारा377परसुप्रीमकोर्टकेफैसलेकेबाददेशभरसेप्रतिक्रियाओंकादौरजारीहै. कहींइसफैसलेपरसहमतिजताईजारहीहैतोकहींइसफैसलेकास्वागतकियाजारहाहै.इसेलेकरआरएसएसनेभीसधीहुईप्रतिक्रियादीहै.आरएसएसकेअखिलभारतीयप्रचारप्रमुखअनिलकुमारनेकहाकिसुप्रीमकोर्टकीतरहहमभीनहींमानतेकिसमलैंगिकसंबंधएकअपराधहै.हालांकि,समलैंगिकशादीऔरसंबंधनतोप्राकृतिकरूपसेसहीहैऔरनहीइसकीजरूरतहैइसलिएहमइसतरहकेसंबंधोंकासमर्थननहींकरतेहैं.

धारा377 अमान्यकरार

सुप्रीमकोर्टनेआजअपनेफैसलेमेंधारा377कोअमान्यकरारदियाहैजिसमेंसमलैंगिकसंबंधोंकोअपराधकीश्रेणीमेंरखागयाहै.5जजोंकीसंविधानपीठनेसुप्रीमकोर्टकेपहलेदिएफैसलेकोबदलतेहुएकहाकिआईपीसीकीधारा377गैरकानूनीहै.समलैंगिकताअपराधनहींहै.दोबालिगोंकीसहमतिसेबनायागयाअप्राकृतिकसंबंधजायजहै.

आजसेसमलैंगिकताअपराधनहीं-पढ़िएसुप्रीमकोर्टकेफैसलेकी10बड़ीबातें

5जजोंकीपीठनेसुप्रीमकोर्टकेपहलेकेफैसलेकोबदला.चीफजस्टिसदीपकमिश्राकेनेतृत्वमेंपांचजजोंकीसंवैधानिकबेंचनेयेफैसलासुनाया.समलैंगिकताकोअपराधनमाननेकीमांगकरनेवालीयाचिकाओंकाविरोधकररहेपक्षकारोंनेअदालतसेआग्रहकियाथाकिधारा377काभविष्यसंसदपरछोड़दियाजाए.

सरकारनेसमलैंगिकताकोअपराधकेदायरेसेबाहरकियाजाएयानहीं,यहफैसलासुप्रीमकोर्टपरछोड़दियाथा.प्रधानन्यायाधीशदीपकमिश्रा,न्यायमूर्तिआरएफनरीमन,न्यायमूर्तिएएमखानविलकर,न्यायमूर्तिधनन्जयवाईचन्द्रचूड़औरन्यायमूर्तिइन्दुमल्होत्राकीपांचसदस्यीयसंविधानपीठइसमामलेकीसुनवाईकररहीथी.

By Cooper