शारीरिक शिक्षा

नईदिल्ली। दिल्लीउच्चन्यायालयनेकहाहैकिफेसबुकजैसेसोशलमीडियाप्लेटफॉर्मपरदिएगएअभद्रबयान,जोअनुसूचितजाति(एससी)याअनुसूचितजनजाति(एसटी)समुदायकेकिसीव्यक्तिकोअपमानितकरनेकीमंशासेदिएगएहों,दंडनीयअपराधहोंगे. न्यायमूर्तविपिनसांघीनेयहभीस्पष्टकियाकिसभीकेखिलाफदियागयाकोईसामान्यीकृतबयान,जोअनुसूचितजातियाअनुसूचितजनजातिसमुदायकेव्यक्तिपरलक्षितनहींहो,अनुसूचितजातिएवंअनुसूचितजनजाति(उत्पीड़नरोकथाम)कानूनकीधारा3(1)(र)केतहतअपराधनहींहोगा.

न्यायालयनेकहा,मेरेख्यालसेइससेकोईफर्कनहींपड़ेगाकिअभद्रपोस्टलिखनेवालेने(सोशलमीडियाअकाउंटकी)प्राइवेसीसेटिंगनिजीकररखीहैयासार्वजनिक.न्यायमूर्तिसांघीनेकहा,कानूनकीधारा3(1)(र)केतहतयहजरूरीनहींहैकिअनुसूचितजनजातिसमुदायकेव्यक्तिकीमौजूदगीमेंहीजानबूझकरअपमानकियागयाहोयाअपमानकीमंशासेधमकायागयाहो.

उच्चन्यायालयनेकहाकियदिपीड़ित,जोअनुसूचितजनजातिसमुदायकाव्यक्तिहै,मौजूदनहींहैऔरउसकेपीठपीछेउसेअपमानितकरनेकीमंशासेटिप्पणीकीगयीहैतोकानूनलागूहोगा,यदियहसार्वजनिकतौरपरहुआहो.अनुसूचितजातिएवंअनुसूचितजनजाति(उत्पीड़नरोकथाम)कानूनकीधारा3(1)(र)केतहतयदिअनुसूचितजातिएवंअनुसूचितजनजातिसमुदायकेकिसीव्यक्तिकोअपमानितकरनेकीमंशासेसार्वजनिकतौरपरजानबूझकरकोईबयानदेताहैतोयहअपराधकीश्रेणीमेंआताहै.

न्यायालयनेकहाकिसोशलमीडियासाइटोंकेमामलेमेंसार्वजनिककामतलबयहहोगाकिकिसीस्वतंत्रयानिष्पक्षगवाहनेअभद्रबयानकोदेखाहो.बहरहाल,न्यायालयनेकहाकिसामान्यीकृततौरपरसभीकेखिलाफदियागयाकोईबयान,जोअनुसूचितजातिएवंअनुसूचितजनजातिकेकिसीव्यक्तिपरलक्षितनहींहो,कानूनकीधारा3(1)(र)केतहतअपराधनहींहोगा.

एकमहिलाकीओरसेअपनीएकरिश्तेदारमहिलाकेखिलाफदर्जकराईगईप्राथमिकीनिरस्तकरतेहुएन्यायालयनेयहटिप्पणीकी.शिकायतकर्तानेकहाथाकिआरोपीमहिलानेधोबीसमुदायकेखिलाफफेसबुकपरअभद्रटिप्पणीकीथी.शिकायतकर्तानेकहाथाकिआरोपीमहिलानेउसेअपमानितकरनेकीमंशासेबयानदियाथा,क्योंकिवहधोबीसमुदायसेहै.आरोपीनेशिकायतकर्ताकेआरोपकोखारिजकरतेहुएप्राथमिकीनिरस्तकरनेकीमांगकीथी.

By Cooper