शारीरिक शिक्षा

लखनऊ.यूपीमेंदुर्गापूजाकेसार्वजनिकआयोजनोंकीअनुमतिनदिएजानेकेमामलेमेंसियासततेजहोगईहै.विपक्षीदलकांग्रेसऔरसपानेयोगीसरकारसेदुर्गापूजापंडालोंपरप्रतिबंधकोहटानेकीमांगकीहै.सपाकेवरिष्ठनेताऔरविधानसभामेंविपक्षकेनेतारामगोविंदचौधरीनेकहाकिदुर्गापूजापंडालोंपरप्रतिबंधलगानालोगोंकेधार्मिकस्वतंत्रताकेमौलिकअधिकारपरसीधाहमलाकरनाहै.

"रामलीलाआयोजनकीमंजूरीतोदुर्गापूजाकीक्योंनहीं"

रामगोविंदचौधरीनेकहा,"दुगार्पूजापंडालोंकोअनुमतिनहींदेनेकाराज्यसरकारकानिर्णयमौलिकअधिकारोंकाउल्लंघनहै.सरकारकोसमारोहकेदौरानसोशलडिस्टेंसिंगऔरअन्यसुरक्षाप्रोटोकॉलसुनिश्चितकरनाचाहिए.यदिराज्यसरकारलोगोंकीनिर्धारितसंख्याकेसाथरामलीलाआयोजितकरनेकीअनुमतिदेसकतीहैतोदुर्गापूजापंडालोंकोअनुमतिक्योंनहींदेसकते."

कांग्रेसनेभीसाधानिशाना

उधर,कांग्रेसनेभीइसमुद्देकोलेकरयोगीसरकारपरहमलाबोलाहै.कांग्रेसकेबंगालप्रभारीजितिनप्रसादनेकहा,"मध्यप्रदेशमेंबड़ेपैमानेपरराजनीतिकरैलियांनिकालनेकीअनुमतिदीजासकतीहै,लेकिनयूपीमेंबीजेपीसरकारबंगालीसमुदायकोप्रतिबंधोंकेसाथदुर्गापूजामनानेकीअनुमतिनहींदेरहीहै.यहसाफतौरपरदर्शातीहैकिउनकेलिएराजनीतिहीजरूरीहै."

जितिनप्रसादनेआगेकहाकिधार्मिकस्वतंत्रताकोलेकरभाजपाचयनात्मकनहींहोसकतीहै,नाहीइसकेलिएवोमहामारीकाउपयोगकरसकतीहै. बतादेंकियूपीकीयोगीसरकारनेदुर्गापूजाकोलेकरनिर्देशदिएहैंकिलोगघरपरहीपूजाकरें.वहींअधिकारियोंकोकोविड-19प्रोटोकॉलसुनिश्चितकरतेहुए100लोगोंकेसाथरामलीलाआयोजितकरनेकीअनुमतिदीहै.