शारीरिक शिक्षा

नईदिल्ली,प्रेट्र।नागरविमाननमंत्रालयनेड्रोनकेलिएयातायातप्रबंधनकीरूपरेखाकीअधिसूचनाजारीकरदीहै।इसकेतहतसार्वजनिकवनिजीथर्डपार्टीसेवाप्रदाता1,000फुटकेनीचेहवाईक्षेत्रमेंड्रोनकीआवाजाहीकाप्रबंधनकरेंगे।

24अक्टूबरकोजारीरूपरेखामेंकहागयाहैकिमौजूदाहवाईयातायातप्रबंधन(एटीएम)प्रणालियांमानवरहितविमान(ड्रोन)केयातायातप्रबंधनकेलिएतैयारनहींकीगईहैं।पारंपरिकसाधनोंकाउपयोगकरतेहुएड्रोनकोभारतीयहवाईक्षेत्रमेंएकीकृतकरनेकेलिएभारीऔरमहंगेहार्डवेयरसेलैसकरनेकीजरूरतहोसकतीहै,जोनतोसंभवहैऔरनहीउचित।इसकेलिएएकअलग,आधुनिक,प्राथमिकरूपसेसाफ्टवेयरआधारित,स्वचालितयूएएस(मानवरहितविमानप्रणाली)यातायातप्रबंधन(यूटीएम)प्रणालीकेनिर्माणकीआवश्यकताहै।

बादमेंइनप्रणालियोंकोपारंपरिकएटीएमप्रणालियोंमेंएकीकृतकियाजासकताहै।हवाईक्षेत्रमेंमानवयुक्तऔरमानवरहितविमानोंकोएकदूसरेसेअलगरखनेकेलिएयूटीएमऔरएटीएमकाएकीकरणमहत्वपूर्णहोगा।इसमेंकहागयाहैकिसभीड्रोन(हरितक्षेत्रमेंसंचालितनैनोड्रोनकोछोड़कर)कोनेटवर्ककेमाध्यमसेप्रत्यक्षयाथर्डपार्टीसेवाप्रदाताओंकेजरियेअपनीमौजूदास्थितिकीजानकारीकेंद्रकेसाथसाझाकरनीहोगी।

पहलेछोटेभौगोलिकक्षेत्रोंमेंकियाजाएगातैनात

मंत्रालयनेकहाकिथर्डपार्टीसेवाप्रदाताओंकोपहलेछोटेभौगोलिकक्षेत्रोंमेंतैनातकियाजाएगा।इन्हेंड्रोनसंचालकोंसेशुल्कलेनेकीअनुमतिहोगीऔरइसकाछोटाहिस्साभारतीयविमानपत्तनप्राधिकरण(एएआइ)केसाथसाझाकरनापड़सकताहै,जोएटीएमकाप्रबंधनकरताहै।उधर,भारतीयड्रोनपरिसंघकेनिदेशकस्मितशाहनेएकबयानमेंकहाकिमानवयुक्तविमानोंकेलिएहवाईयातायातनियंत्रकों(एटीसी)द्वाराप्रदानकीजानेवालीपारंपरिकयातायातप्रबंधनसेवाओंकोड्रोनयातायातकेप्रबंधनकेलिएविस्तारदेनासंभवनहींहै।

By Cooper