शारीरिक शिक्षा

जागरणसंवाददाता,रुड़की:धनतेरसऔरछोटीदीपावलीकेत्योहारकीतिथिकोलेकरअसमंजसकीस्थितिदेखनेकोमिलरहीहै।शहरकेकुछपंडितोंकेअनुसारइससाल13नवंबरकोधनतेरसऔर14नवंबरकोछोटीदीपावलीएवंमुख्यदीपावलीकापर्वएकसाथमनायाजाएगा।वहींकुछपंडितोंकाकहनाहैकि13नवंबरकोधनतेरसऔरछोटीदीपावलीकापर्वएकसाथमनायाजाएगा।जबकि14नवंबरकोमुख्यपर्वहोगा।तिथियोंकेघटने-बढ़नेकीवजहसेदुविधाउत्पन्नहोरहीहै।

आमतौरपरप्रत्येकवर्षछोटीदीपावलीसेएकदिनपहलेधनतेरसकापर्वमनायाजाताहै।इसदिनबर्तन,सोना-चांदीऔरझाड़ूखरीदनाशुभमानाजाताहै।मान्यताहैकिइनसबचीजोंकीखरीदारीकरनेसेमांलक्ष्मीप्रसन्नहोतीहैं,लेकिनइससालतिथियोंकेघटने-बढ़नेकीवजहसेइसपर्वकोमनानेकीतिथिकोलेकरजनतामेंसंशयबनाहुआहै।भारतीयप्रौद्योगिकीसंस्थान(आइआइटी)रुड़कीपरिसरस्थितश्रीसरस्वतीमंदिरकेआचार्यराकेशकुमारशुक्लनेबतायाकिधनतेरसकेदिनसेपांचमहापर्वकीशुरुआतहोतीहै।इनमेंधनतेरस,नरकचतुर्दशी,दीपावलीमुख्यपर्व,गोवर्धनपूजाऔरभैयादूजशामिलहैंलेकिनइससालतिथियोंकेघटने-बढ़नेसेयेपर्वचारदिनमेंसंपन्नहोंगे।उनकेअनुसारदीपावलीपूजनमेंप्रदोषकाल,निशीथकालऔरमहानिशीथकालमेंअमावस्याव्याप्तनहींहोनेसेयहपर्व14नवंबरकोहीहोगा।उनकेअनुसार14नवंबरकोचतुर्दशीतिथिदोपहरदोबजकर15मिनटपरसमाप्तहोजाएगी।इसकेबादअमावस्याप्रारंभहोगी।जोअगलेदिन15नवंबरकोसुबहदसबजकर35मिनटपरसमाप्तहोगी।15नवंबरकोनिशीथव्यापिनीअमावस्यानहींहोनेसेमुख्यपर्व14नवंबरकोहीकरनाशास्त्रसम्मतहोगा।उन्होंनेबतायाकिब्रह्मपुराणकेअनुसारअमावस्याकीअ‌र्द्धरात्रिमेंमांलक्ष्मीपृथ्वीपरविचरणकरतीहैं।इसलिएरात्रिकालमेंअमावस्याहोनाजरूरीहै।रामनगरस्थितराममंदिरकेपंडितकैलाशचंद्रशास्त्रीऔरनहरकिनारेस्थितलक्ष्मीनारायणमंदिरकेपंडितरामगोपालपराशरकेअनुसारत्रयोदशीतिथि12नवंबरकोरातसाढ़ेनौबजेप्रारंभहोगी।जो13नवंबरकोशामपांचबजकर59मिनटतकरहेगी।क्योंकिधनतेरसकेपर्वपरदिनमेंखरीदारीकीजातीहै।इसलिए13नवंबरकोधनतेरसकापर्वमनायाजाएगा।जबकि13नवंबरकीशामकोत्रयोदशीतिथिसमाप्तहोनेकेबादचौदसलगजाएगी।इसलिएइसदिनछोटीदीपावलीकात्योहारमनायाजाएगाऔरबड़ीदीपावली14नवंबरकोमनाईजाएगी।उधर,साकेतस्थितदुर्गाचौकमंदिरकेमुख्यपुजारीपंडितजगदीशप्रसादपैन्यूलीकेअनुसार12नवंबरकोरातमेंत्रयोदशीतिथिलगनेसेइसदिनहीधनतेरसकापर्वमनायाजासकताहै।

शुक्रवारऔरचित्रानक्षत्रकाउत्तमसंयोग:

पंडितराकेशकुमारशुक्लाकेअनुसारधनतेरसपरइसबारशुक्रवारऔरचित्रानक्षत्रकाउत्तमसंयोगबनरहाहै।कईसौवर्षोकेबादतीनग्रहोंकाअद्भुतसंयोगबनरहाहै।इसकेतहतगुरुग्रहअपनीराशिधनुऔरशनिग्रहअपनीराशिमकरमेंसंचारकरेंगे।जबकिशुक्रकन्याराशिमेंविराजमानहोंगे।इससंयोगमेंपूजन,दानऔरखरीदारीकरनाबहुतशुभरहेगा।

By Daly