शारीरिक शिक्षा

चुटूपालू:जहांकोरौशनकरनेवालादीपावलीआरहाहै।चंददिनशेषहैऔरकुम्हारोंकोइसबारआशाहैकिउनकेदीपोंसेसाराजहांरौशनहोगा।कोरोनानेपिछलेसालउत्साहपरपानीफेरदियाथा।इसबार,पर्वकोलेकरसबमेंउत्साहहै।बाजारमेंभीरौनकहै।ओरमाझीप्रखंडकेकुम्हारोंकाचाकभीतेजीसेघूमरहाहै।दीएऔरग्वालिनकानिर्माणहोरहाहै।

मिठूप्रजापतिकहतेहैंकियहकामपूर्वजोंसेचलाआरहाहै।रोजगारभीदेताहै।सालोंभरमिट्टीकाकामचलताहै।दीपसेलेकरअन्यचीजोंभीबनतीहैं।मिट्टीकाघड़ा,ढक्क्न,बच्चेकेलिएखिलौने,लक्ष्मी-गणेशकीमूर्तिआदिबनायाजाताहै।शादी-विवाहवअन्यमांगलिककामोंमेंमिट्टीकेबर्तनोंकीमांगहोतीहै,लेकिनदीपावलीकोलेकरविशेषउत्साहरहताहै।पर्वआनेसेचारमहीनेपहलेहीदीपोंकानिर्माणशुरूहोजाताहै।तरह-तरहकेछोटे-बड़ेआकारमेंदीपबनायाजाताहै।इसबारमौसमभीबहुतखराबरहा।अबमौसमठीकहुआहै,तोकामनेभीतेजीसेपकड़लीहै।

बीएतकपढ़ाईकिएमिठुबतातेहैंकिआजजमानाआधुनिकहोगयाहैऔरनईतकनीककाप्रयोगभीमिट्टीकेबर्तननिर्माणमेंकियाजारहाहै।अबचार-पांचमजदूररखकरमिट्टीकेबर्तनबनातेहै,जिसेराची,रामगढ़हजारीबागबोकारोसेव्यापारीआकरलेजातेहैं,किन्तुइसबारआर्डरकुछहीजगहोंसेमिलाहै।दीपावलीकेलिएबनाएगएखिलौनेकारंगरोगनकाकार्यअंतिमचरणमेंहै।सोमवारकोबाजारमेंआजाएगा।इसबार150रुपयेसैकड़ादीयाबिकरहाहै।ग्वालिन40से50रुपयेमें।हाथी15रुपयेप्रतिबिकरहाहै।उम्मीदहैकिइसबारउम्मीदहै।

By Cooke