शारीरिक शिक्षा

हापुड़,जागरणसंवाददाता।वर्तमानसमाजमेंमहिलाहिंसाएकगंभीरसमस्याहै।इसकीजड़ेंसामजिकढांचोंमेंहैऔरसमाजकेसभीवर्गोंमेंफैलीहुईहैं।हरउम्र,वर्ग,धर्म,संस्कृति,जाति,इलाकेवशैक्षिकस्तरकीमहिलाइससेप्रभावितहोतीहै।देखनेमेंआताहैकिमहिलाओंकेसाथभेदभावकासिलसिलाउनकेजन्मसेहीशुरूहोजाताहै।जहांलड़कियोंकेमुकाबलेलड़कोंकोज्यादामहत्वदियाजाताहै।जिसकेपरिणामस्वरूपलिंगचयनआधारितभू्रणहत्याकेमामलेसामनेआतेहैं।यहभेदभावऔरसामाजिकदर्जेमेंअसमानतामहिलाओंपरहोनेवालीहिंसाकेमूलकारणहैं।घरेलूहिंसापररोकथामकिएजानेकेलिएअबआशाओंकोइसकीजिम्मेदारीसौंपीगईहै।

महिलाओंकेसाथहोनेवालीघरेलूहिंसाकेप्रतिउनकोजागरुककरनेमेंआशाकार्यकर्ताओंकीभूमिकासुनिश्चितकरनेहेतुजनपदकी800आशाबहुओंकोप्रशिक्षितकियागयाहै।सामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रअधीक्षकडॉ.दिनेशखत्रीनेबतायाकिमहिलाओंकेसाथहोनेवालीहिंसाकेविभिन्नशारीरिक,मानसिकऔरसामाजिकदुष्परिणामहोतेहैं।महिलाएंलगातारअपनेअधिकारोंऔरहितोंसेवंचितरहजातीहैं।सार्वजनिकएवंराजनीतिकमंचोंपरउनकाप्रतिनिधित्वनहींहोपाताहैऔरनिर्णयलेनेकेपदोंपरपहुंचनेकेअवसरघटजातेहैं।

स्कूल,स्वास्थ्यसुविधाओंतथारोजगारअवसरोंतकउनकीपहुंचभीसीमितहोजातीहैं।उन्होंनेबतायाकिआशाओंकोदिएप्रशिक्षणकार्यक्रमकेमाध्यमसेआशाओंद्वाराधरातलस्तरपरकिशोरियोंएवंमहिलाओंकोउनकेसाथहोनेवालीहिंसाकेप्रतिजागरुककरनेकाप्रयासकियाजाएगा।आशाएंअपनेसमुदायकीमहिलाओंकेनिकटहोतीहैंऔरउनकेसाथपहलेसेहीउनकातालमेलबनारहताहै।इसकीवजहसेआशाएंऐसीमहिलाओंकोआसानीसेपहचानसकतीहैंजिन्हें,हिंसाकाकोईखतराहैयाजोकिसीप्रकारकीहिंसाकासामनाकररहीहैं।

उन्होंनेबतायाकिप्रशिक्षणकेबादआशाएंअपनेसमुदायमेंमहिलाओंकेसाथहोनेवालीहिंसाकेमुद्दोंकोपहचाननेऔरउसमेंहस्तक्षेपकरनेमेंमददकरेंगी।वर्तमानसमाजमेंमहिलाहिंसाएकगंभीरसमस्याहै।इसकीजड़ेंसामजिकढांचोंमेंहैऔरसमाजकेसभीवर्गोंमेंफैलीहुईहै।हरउम्र,वर्ग,धर्म,संस्कृति,जाति,इलाकेवशैक्षिकस्तरकीमहिलाइससेप्रभावितहोतीहै।आमतौरपरमानाजाताहैकिपुरुषहीमहिलाओंपरहिंसाकरतेहैं,लेकिनऐसाहमेशानहींहोता।अक्सरऔरतअपनेपरिवारकीपितृसत्तात्मक(पुरुषोंद्वारानियंत्रित)सोचवालीमहिलासदस्योंद्वाराभीहिंसाकाशिकारहोतीरहतीहैं।

उन्होंनेबतायाकिएकआशाकोअकेलेइसमुद्देपरकामकरनामुश्किलहोगा,इसलिएग्रामस्तरपरगठितमहिलासमूहों,ग्रामस्वास्थ्यसमिति,कार्यक्षेत्रकीआशाओंकासमूहबनाकरहिंसाकेखिलाफकामकरनेकेलिएसमर्थनजुटासकतीहैं।इसकेसाथसभीआशाओंकोमहिलाओंकेसाथहोनेवालीहिंसाकोरोकनेकेलिएकानूनीउपायोंसेभीअवगतकरायागया।

इसलिएइन्हेंचुना

टीकाकरण,काउंसलिंग,जच्चा-बच्चास्वास्थ्यऔरअन्यमामलोंमेंघर-घरजानेवालीआशावर्करमहिलाओंकोइसविषयमेंजागरूककरसकतीहैं।इसकीएकवजहयहभीहैकिलगातारघरोंमेंआने-जानेसेमहिलाओंऔरआशावर्करकेबीचदोस्तानाऔरसुविधाजनकमाहौलबनजाताहै।ऐसेमेंघरेलूहिंसाकीशिकारमहिलाआशावर्करकोसहजतासेपूरीबातबतासकतीहै।उन्हेंसरकारीकीतरफसेमिलनेवालीसुविधाओंकेबारेमेंभीबतायाजाएगा।

By Collins