शारीरिक शिक्षा

लखनऊ,राज्यब्यूरो।ऊर्जाकेसाथहीअतिरिक्तस्रोतकेमंत्रीएकेशर्मानेकहाहैकिवैकल्पिकऊर्जाकाअधिकसेअधिकउपयोगकरपर्यावरणसंरक्षणकेसाथहमअपनेजीवनकोभीऔरअधिकउपयोगीबनासकतेहैं।ऊर्जाउत्पादनकेसाथऊर्जासंरक्षणकरनाभीमहत्वपूर्णवपवित्रकार्यहै,जिसमेंसभीकीसहभागिताजरूरीहै।

प्रदेशमेंआफग्रिडसौरऊर्जासंयंत्रकीस्थापनाऔरजैवऊर्जापरकार्यकियाजारहाहै।विभागीयमंत्रीशर्मानेउप्रनवीनवनवीकरणीयऊर्जाविकासअभिकरण(यूपीनेडा)कार्यालयमेंविभागीयकार्योंकीसमीक्षाकरतेहुएकहाकिसौरऊर्जासुदूरक्षेत्रोंमेंआसानीसेउपलब्धकराईजासकतीहै,इसकेलिएविभागपूरेसामर्थ्यकेसाथकार्यकरेऔरलोगोंकोयोजनाओंकालाभपहुंचाएं।उन्होंनेविभागीयकार्योंकाप्रस्तुतीकरणभीदेखा।

यूपीनेडाकेनिदेशकभवानीसिंहखंगारौतनेकहाकिअबतकलगभगदोहजारमेगावाटविद्युतकाउत्पादनहोरहाहै।विभिन्नकंपनियोंकेसाथअनुबंधकरइसेऔरबढ़ानेकेप्रयासकिएजारहेहैं।छहहजारघरोंमेंसोलररूफटापप्लांटस्थापितकर251मेगावाटबिजलीपैदाकीजारहीहै।सोलररूफटापकार्यक्रममेंलाभार्थियोंकोकेंद्रसरकारकीओरसेएकसेतीनकिलोवाटपर40प्रतिशततथातीनसे10किलोवाटपर20प्रतिशतकाअनुदानदियाजारहाहै।

प्रदेशसरकारकीओरसे15हजाररुपयेप्रतिकिलोवाटऔर30हजाररुपयेप्रतिउपभोक्ताअधिकतमअनुदानमिलरहाहै।उन्होंनेबतायाकिगांवोंऔरबाजारोंमेंभीसोलरलाइटलगाईजारहीहैं।बैठकमेंप्रमुखसचिवऊर्जावअतिरिक्तऊर्जास्रोतएम.देवराज,सचिवयूपीनेडाअनिलकुमार,वरिष्ठपरियोजनाअधिकारीअशोकश्रीवास्तवकेसाथअन्यअधिकारीउपस्थितथे।