शारीरिक शिक्षा

वाराणसी,जेएनएन।वसंतपंचमीकेपर्वपरमंगलवारकीसुबहसेहीआस्‍थावानोंकीकतारनदियोंकीओरलगीरही।तड़केसेहीनदियोंकीओरलोगोंकारुखरहातोहरहरमहादेवऔरहरहरगंगेकेउदघोषकेबीचबाबाकेतिलकोत्‍सवकेदिनकाशीशिवमयभीनजरआई। सुबहगंगाकेप्रमुखघाटोंपरस्‍नानकरकेआस्‍थावानोंनेसरस्‍वतीमंदिरोंमेंहाजिरीलगाईऔरज्ञानकीवाग्‍देवीकीप्रतिमाकेसमक्षसिरझुकाकरआस्‍थाप्रकटकी।

वहींकाशीमेंवसंतपंचमीकेदिनबाबाविश्‍वनाथकेतिलकोत्‍सवकीमान्‍यताकीवजहसेसुबहआस्‍थाकारेलामंदिरोंऔरशिवालयोंकीओरउमड़पड़ा।शिवमंदिरोंमेंलोगोंनेजलाभिषेककरबाबाकाआशीर्वादलिया।सुबहसेशिवालयहरहरमहादेवकेउदघोषसेगूंजतेनजरआए।इससेपूर्वपुण्यकीडुबकीआस्‍थावानोंनेगंगाऔरगंगागोमतीसंगमकैथीमेंलगाकरशिवालयोंकारुखकिया।

पूर्वांचलमेंभदोही,मीरजापुर,वाराणसी,चंदौली,गाजीपुरऔरबलियामेंगंगानदीमेंआस्‍थाऔरपुण्‍यकीडुबकीलगाकरलोगोंनेआस्‍थाव्‍यक्‍तकीतोनदियोंकेतटपरमेलेकाभीलोगोंनेलुत्‍फउठाया।मऊ,आजमगढ़औरबलियाजिलेमेंसरयूकेतटपरभीलोगोंकीकतारलगीरहीऔरपुण्‍यकीडुबकीलगाकरलोगोंनेदानपुण्‍यकरशुभऔरमंगलकीकामनाकी।इसदौरानपूर्वांचलकेप्रमुखमंदिरोंमेंलोगोंकीआस्‍थाकीकतारदोपहरतकलगीरहीऔरलोगदर्शनपूजनकेसाथहीदानपुण्‍यकरतेरहे।

नदियोंमेंस्‍नानऔरमंदिरोंमेंध्‍यानकेसाथहीलोगोंनेमंदिरोंमेंदानपुण्‍यभीकिया।आस्‍थाकेअनुसारलोगोंनेभोजनऔरद्रव्‍यकादानकरवर्षभरकेलिएमंगलकामनाकी।कोरोनाकालकेबादअबमंदिरोंमेंआस्‍थाकीकतारलगनेलगीतोसंक्रमणकेकमहोतेखतरोंसेबेपरवाहलोगोंकीआस्‍थाघाटसेमंदिरोंकीचौखटतकनजरआई।दानपुण्‍यकेबादलोगोंनेअपनेघरोंकीओररुखकिया।

वसंतपंचमीपरपीलेफूलहुएकीमती

वाग्‍देवीकीआराधनाकेपर्ववसंतपंचमीकेदिनमंगलवारकोफूल-मालाओंकेदामसातवेंआसमानपरचढ़गये।इनमेंपीलेफूलकेमालाओंकीमनमानीबोलीलगाईगई।सुबहतीनहजाररुपयेसेलेकरचारहजाररुपयेलच्छीतकबोलीलगाईगई।वहीं,दिनढलतेहीरेटढाईहजाररुपएतकजापहुंंचा।वसंतपंचमीकेदिनपूर्वाचलकीसबसेबड़ीफूलोंकीमंडीइंग्लिशियालाइनस्थितफूलमंडीमेंइससमयतिलरखनेतककीभीजगहनहींबची।इंग्लिशियालाइनसेलेकरमलदहियाचौराहेतकअस्थाईमालाफूलकीदुकानेंसजीरही।अमूमनफूलमंडीमें80से90रुपयेप्रतिदसकेहिसाबसेबिकनेवालेगेंदाफूलकेमालातीनसेचारसौरुपयेप्रतिलच्छामेंबिकरहाहै।कमोबेशयहीहालबांसफाटकस्थितफूलमंडी,अर्दलीबाजारमेंभीरहा।

पूर्वांंचलभरसेआतेहैंकिसान

फूलमंडियोंमेंपूर्वाचलभरकेकिसानआतेहैं।इसबारलोहता,राजातालाब,घमहापुर,बिरभानपुर,मिल्कीचक,जाल्हूपुर,जमुआबाजारसहितमिर्जापुर,जौनपुर,चंदौली,भदोहीआदिजिलोंकेकिसानआयेथे।