शारीरिक शिक्षा

पूर्णिया।प्रखंडकेमहाराजपुरपैक्समेंधानखरीदारीकेलिएक्रयकेंद्रकाशुभारंभशनिवारकोकियागया।क्रयकेंद्रकाउद्घाटनविधायकविजयखेमका,बीडीओअजयकुमार,प्रखंडसहकारितापदाधिकारीकैलाशकुमारकौशलवहिमांशुमिश्रानेसंयुक्तरूपसेफीताकाटकरकिया।

इसमौकेपरवर्ष2020-2021केलिएसरकारद्वारानिर्धारितसमर्थनमूल्यसाधारण1868रुपयावग्रेडए1888रुपयाप्रतिक्विंटलपरकिसानोंसेधानक्रयकरनेकाकामप्रारंभकियागया।उद्घाटनमेंमौजूदविधायकविजयखेमकानेकहाकीअन्नदाताभाइयोंकाधानप्रतिक्विटल1868तथा1888एमएसपीरेटपरपैक्सकेमाध्यमसेखरीदशुरूहोगयाहै।बिहारप्रदेशमें45लाखमीट्रिकटनतथापूर्णियाजिलामें60हजारमैट्रिकटनधानकीखरीदकीजाएगी।पूर्णियाकेसभीपैक्ससेंटरतथाव्यापारमण्डलद्वाराकिसानोंकाधानखरीदशीघ्रकरनेकानिर्देशविधायकनेविभागकेअधिकारीकोदिया।विधायकविजयखेमकानेकहाएनडीएकीसरकारकिसानोकीसमर्पितसरकारहै।किसानोंकोउनकीफसलकादुगुनालाभप्राप्तहोइसदिशामेंकेंद्रएवंराज्यकीसरकारनेअनेकसराहनीयकार्यकियेहै।सरकारनेस्पष्टकहाहैएमएसपीसदैवलागूरहेगी।किसानअपनीफसलकोमंडीतथामंडीसेबाहरक्रयविक्रयकेलिएपूर्णत:स्वतंत्रहै।उन्होंनेकहाकिबिजोलियाऔरदलालकेमकड़जालसेकिसानोंकोबाहरकरनेकेलिएयहएमएसपीसरकारकेद्वारालागूकियागयाहै।इसकेलियेपैक्सकेलोगगांवगांवमेंजाकरकिसानोंकोधानखरीदकीजानकारीदें।ताकिकिसानोंकोसमुचितइसकालाभमिलसके।इसअवसरपरप्रखंडसहकारिताप्रसारपदाधिकारीहिमांशुमिश्रानेबतायाकिअबतकमहाराजपुरपैक्समें110क्विटलधानकीअधिप्राप्तिकीगयीहैएवंपेमेंटसिस्टममेंभीसुधारकियागयाहै।जिससेक्रयकार्यमेतेजीआएगी।उन्होंनेबतायाकिपूर्णियापूर्वप्रखंडकेबारहपैक्सोमेंधानअधिप्राप्तिकेंद्रकीशुरुआतहोचुकीहैऔरअबतककुल3768क्विटलधानकीखरीदारीभीकीजाचुकीहै,जिसकाभुगतानभीआरटीजीएसकेमाध्यमसेकिसानोंकेखातेमेंकियाजारहाहै।उन्होंनेबतायाकिकिसानोंकोअगरकोईभीतरहकीपरेशानीहोतीहैतोवहपैक्सअध्यक्षवप्रखंडसहकारिताप्रसारपदाधिकारीसेमोबाइलकेमाध्यमसेबातकरउससमस्याकासमाधानकरवासकतेहैं।वहींपैक्सअध्यक्षअरविदयादवनेबतायाकिकिसानोंकोधानअधिप्राप्तिकेबारेमेंमेरेद्वाराकिसानोंकोजानकारीदीजारहीहै।किसानभीपैक्समेंधानबिक्रयकरनेकेलियेबढ़चढ़करआगेआरहेहैं।वहींग्रामीणमोहम्मदउस्मानआलमनेपैक्सप्रबंधनकीसराहनाकरतेहुएविधायकसेमझेलीसेमहाराजपुरतकजर्जरसड़ककानिर्माणकरानेकीमांगकीजिसपरउपस्थितसभीग्रामीणोंनेउनकीइसबातपरसहमतिजताई।मौकेपरपूर्वप्रमुखजियाउलहक,मोशमीम,मुखियाप्रतिनिधिरामप्रसादसिंह,सरपंचप्रतिनिधिप्रसादीसाह,पंचायतसमितिसदस्यललनकुमारसिन्हा,आनंदीयादव,कंचनदेवी,रवियादव,विनोदसिंहसहितदर्जनोंकिसानमौजूदथे।