शारीरिक शिक्षा

(योषितासिंह)संयुक्तराष्ट्र,11दिसंबर(भाषा)भारतनेसंयुक्तराष्ट्रमेंकहाकिविश्वसमुदायकोअफगानिस्तानपरथोपेगएसभीपारगमनअवरोधकहटानेकेलिएकामकरनाचाहिएऔरसुनिश्चितकरनाचाहिएकियुद्धसेजर्जरयहदेशद्विपक्षीयऔरबहुपक्षीयसमझौतोंकेतहतअपनेअधिकारइस्तेमालकरसके।संयुक्तराष्ट्रमेंभारतकेउपस्थायीप्रतिनिधिनागराजनायडूनेसंयुक्तराष्ट्रमहासभामेंअफगानिस्तानकोलेकरपेशप्रस्तावकासमर्थनकरतेहुएकहाकिअफगानिस्तानकीसमृद्धभविष्यकेलिएजरूरीहैकिउसकीपहुंचसमुद्रमार्गतकहो।नायडूनेबृहस्पतिवारकोकहा,‘‘अंतरराष्ट्रीयसमुदायकोअफगानिस्तानपरलगाएगएकृत्रिमपारगमनअवरोधकोंकोहटानेकेलिएकामकरनाचाहिएऔरद्विपक्षीयऔरबहुपक्षीयसमझौतोंकेतहतअफगानिस्तानकोमिलेपारगमनअधिकारकीगारंटीकोसुनिश्चितकरनाचाहिए।हमप्रसन्नहैंकिजोप्रस्तावहमारेसमक्षपेशकियागयाहैउसमेंऐसाकरनेकीबातकहीगईहै।’’उन्होंनेजोरदेकरकहाकिआतंकवादकेसभीरूपोंकेकिसीभीतरहबर्दाश्तनहींकरनेकीनीतिअपनानेकीजरूरतहै।नायडूनेकहाकियहसुनिश्चितकरनाअहमहैकिआतंकवादीसमूहअफगानिस्तानकाइस्तेमालदूसरेदेशोंपरहमलेयाधमकीदेनेकेलिएनहींकरें।अंतरराष्ट्रीयसमुदायकेलिएयहसुनिश्चितकरनाभीअहमकिसभीदेशआतंकवादीसमूहोंकोपनाहगाहऔरउन्हेंअपनीगतिविधियांकरनेकीइजाजतनहींदें।उन्हेंआतंकवादियोंकीभर्तीकरनेसेरोकेंऔरवित्तपोषण,सामग्रीयाराजनीतिकसमर्थनरोकेंऔरजोऐसाकरतेहैंउन्हेंजिम्मेदारठहराए।उल्लेखनीयहैकि193सदस्यीयसंयुक्तराष्ट्रमहासभाने130से‘अफगानिस्तानमेंस्थिति’’नामकेप्रस्तावकोस्वीकारकिया।इसप्रस्तावकेविरोधमेंरूसनेमतदानकियाजबकिबेलारूस,चीनऔरपाकिस्तानअनुपस्थितरहे।भारतइसप्रस्तावकासहप्रायोजकथा।भारतनेअफगानिस्तानमेंबड़ेपैमानेपरहिंसापरचिंताजताईऔरइनघटनाओंकीकड़ीनिंदाकी।नायडूनेकहा,‘‘यहमहत्वपूर्णहैकितालिबानऔरअन्यआतंकवादीसमूहोंकीहिंसासेअफगानिस्तानकीसुरक्षाऔरस्थिरताकोउत्पन्नहोरहेखतरेकासामनाकियाजाए।शांतिप्रक्रियाऔरहिंसासाथ-साथनहींचलसकतीऔरहमतुंरतविस्तृतसंघर्षविरामकाआह्वानकरतेहैं।’’

By Dale