शारीरिक शिक्षा

संवादसूत्र,फाजिल्का:बीएसएफकी96वींबटालियनकेअधिकारियोंवजवानोंनेबीएसएफकार्यालयवसीमाचौकियोंपरकमांडेंटनरेशकुमारकेमार्गदर्शनमेंअंतरराष्ट्रीययोगदिवसमनायागया।इसमौकेबीएसएफजवानोंकीपत्नियांवबच्चोंनेभीकाफीसंख्यामेंबटालियनबाबाअध्यक्षकमलेशयादवकेदिशानिर्देशमेंबढ़चढ़करभागलिया।साथहीविभिन्नप्राणायामोंकाअभ्याससुबहकेसमयकियागया।इसमौकेइसविषयसेसंबंधितप्रश्नोत्तरीकाभीआयोजनकियागया,जिसमेंबच्चोंनेकाफीरूचीदिखाई।इसकेउपरांतबच्चोंकोपुरस्कृतभीकियागया।एकभारतश्रेष्ठभारतकेतहतदूर-दराजगांवोंकेयुवाभीइसकार्यक्रममेंशामिलहुए।

इसमौकेबीएसएफअधिकारियोंनेकहाकियोगभारतकीप्राचीनपरम्पराकाएकअमूल्यउपहारहै।यहदिमागऔरशरीरकीएकताकाप्रतीकहै।मनुष्यऔरप्रकृतिकेबीचसामंजस्यहैऔरस्वास्थ्यवभलाईकेलिएएकसमग्रदृष्टिकोणकोभीप्रदानकरनेवालाहै।योगकाअभ्यासएकबेहतरइंसानबननेकेसाथएकतेजदिमाग,स्वस्थदिलऔरएकसुकूनभरेशरीरकोपानेकेतरीकोंमेंसेएकहै।वहींसीमासुरक्षाबलकीक्षेत्रमेंआईबटालियन66द्वाराभीयोगदिवसपरकार्यक्रमआयोजितकियागया।जिसमेंअधिकारियोंवजवानोंनयोगक्रियाएंकरकेतंदुरुस्तीकासंदेशदिया।

By Coles