शारीरिक शिक्षा

नयीदिल्ली,29मई(भाषा)प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेदेशमेंकईभाषाओं,लिपियोंऔरबोलियोंकासमृद्धखजानाहोनेकाउल्लेखकरतेहुएकहाकि‘‘विविधता,एकराष्ट्रकेरूपमेंहमेंअधिकसशक्तकरतीहैऔरएकजुटरखतीहै।’’रेडियापरअपनेमासिककार्यक्रम‘मनकीबात’मेंमोदीनेभाषाकीविविधतापरजोरदियाऔरउत्तराखंडकीनिवासीकल्पनाकाजिक्रकिया,जिन्होंनेकर्नाटकमें10वींकीपरीक्षामेंकन्नड़में92अंकहासिलकिए।प्रधानमंत्रीनेकहा,‘‘हमारेदेशमेंकईसारीभाषा,लिपियाोंऔरबोलियोंकासमृद्धखजानाहै।अलग-अलगक्षेत्रोंमेंअलग-अलगपहनावा,खानपानऔरसंस्कृति,येहमारीपहचानहै।येविविधता,एकराष्ट्रकेरूपमेंहमें,अधिकसशक्तकरतीहैऔरएकजुटरखतीहै।’’विविधताकेउदाहरणकोरेखांकितकरतेहुएमोदीनेछात्राकल्पनाकेबारेमेंचर्चाकी।प्रधानमंत्रीनेकहा,‘‘कल्पनानेहालमेंकर्नाटकमें10वींकीपरीक्षापासकीहै,लेकिन,उनकीसफलताकीबेहदखासबातयहहैकि,कल्पनाकोकुछसमयपहलेतककन्नड़भाषानहींआतीथी।उन्होंनेनासिर्फतीनमहीनेमेंकन्नड़भाषासीखीबल्कि92अंकप्राप्तकिए।’’उन्होंनेकहा,‘‘कल्पनाकेबारेमेंऔरभीकईबातेंऐसीहैंजोआपकोहैरानभीकरेगीऔरप्रेरणाभीदेगी।कल्पना,मूलरूपसेउत्तराखंडकेजोशीमठकीरहनेवालीहैं।वहपहलेटीबीसेपीड़ितरहीथींऔरजबवहतीसरीकक्षामेंथींतभीउनकीआंखोंकीरोशनीभीचलीगईथी,लेकिनकहतेहैंन,‘जहांचाह-वहांराह’।’’प्रधानमंत्रीनेकहाकिकल्पनाबादमेंमैसूरूकीरहनेवालीप्रोफेसरतारामूर्तिकेसंपर्कमेंआई,जिन्होंनेनसिर्फउन्हेंप्रोत्साहितकिया,बल्किहरतरहसेउनकीमददभीकी।आज,वहअपनीमेहनतसेसबकेलिएएकउदाहरणबनगईहैं।मोदीनेपश्चिमबंगालमेंपुरुलियाकेश्रीपतिटूडूकाभीजिक्रकियाजोपुरुलियाकेसिद्धो-कानो-बिरसाविश्वविद्यालयमेंसंथालीभाषाकेप्रोफेसरहैं।प्रधानमंत्रीनेकहाकिटूडूनेसंथालीसमाजकेलिएउनकीअपनी‘ओलचिकी’लिपिमेंदेशकेसंविधानकीप्रतितैयारकीहै।प्रधानमंत्रीनेकहा,‘‘श्रीपतिटूडूजीकहतेहैंकिहमारासंविधानहमारेदेशकेहरएकनागरिककोउनकेअधिकारऔरकर्तव्यकाबोधकराताहै।इसलिए,प्रत्येकनागरिककाइससेपरिचितहोनाजरुरीहै।’’मोदीनेकहा,‘‘उन्होंनेसंथालीसमाजकेलिएउनकीअपनीलिपिमेंसंविधानकीप्रतितैयारकरकेभेंटकेरूपमेंदीहै।मैं,श्रीपतिजीकीइससोचऔरउनकेप्रयासोंकीसराहनाकरताहूं।यह‘एकभारत-श्रेष्ठभारत’कीभावनाकाजीवंतउदाहरणहै।’’मोदीनेउत्तराखंडकीमौजूदा‘चार-धाम’यात्राकाभीउल्लेखकिया,जहां‘चार-धाम’औरखासकरकेदारनाथमेंहरदिनहजारोंकीसंख्यामेंश्रद्धालुवहांपहुंचरहेहैं।प्रधानमंत्रीनेकहा,‘‘लोगचार-धामयात्राकेसुखदअनुभवसाझाकररहेहैं,लेकिन,मैंनेयेभीदेखाकिश्रद्धालुकेदारनाथमेंकुछयात्रियोंद्वाराफैलाईजारहीगन्दगीकीवजहसेबहुतदुखीभीहैं।सोशलमीडियापरभीकईलोगोंनेअपनीबातरखीहै।हम,पवित्रयात्रामेंजायेंऔरवहांगन्दगीकाढ़ेरहो,येठीकनहीं।’’उन्होंनेकहा,‘‘कईश्रद्धालुऐसेभीहैंजोबाबाकेदारकेधाममेंदर्शन-पूजनकेसाथ-साथस्वच्छताकीसाधनाभीकररहेहैं।कोईअपनेठहरनेकेस्थानकेपाससफाईकररहाहै,तोकोईयात्रामार्गसेकूड़ा-कचरासाफकररहाहै।स्वच्छभारतकीअभियानटीमकेसाथमिलकरकईसंस्थाएंऔरस्वयंसेवीसंगठनभीवहांकामकररहेहैं।’’प्रधानमंत्रीनेकहा,‘‘हमारेयहांजैसेतीर्थ-यात्राकामहत्वहोताहै,वैसेहीतीर्थ-सेवाकाभीमहत्वबतायागयाहैऔरमैंतोयेभीकहूंगा,तीर्थ-सेवाकेबिनातीर्थ-यात्राभीअधूरीहै।देवभूमिउत्तराखंडमेंकितनेहीलोगहैंजोस्वच्छताऔरसेवाकीसाधनामेंलगेहुएहैं।’’प्रधानमंत्रीनेलोगोंसेतीर्थस्थलोंकीगरिमाबनाएरखनेकाआह्वानकिया।मोदीनेकहा,‘‘शुचिता,साफ-सफाई,पवित्रवातावरणहमेंइसेकभीनहींभूलनाहै,इसेजरूरबनाएरखें।इसीलिएजरूरीहैकिहमस्वच्छताकेसंकल्पकोयादरखें।कुछदिनबाद5जूनको‘विश्वपर्यावरणदिवस’है।पर्यावरणकोलेकरहमेंअपनेआस-पाससकारात्मकअभियानचलानेचाहिएऔरयेनिरंतरचलनेवालाकामहै।’’मोदीनेकहा,‘‘आप,इसबारसबकोसाथजोड़कर-स्वच्छताऔरपौधारोपणकेलिएकुछप्रयासजरूरकरें।आप,खुदभीपौधेलगाइयेऔरदूसरोंकोभीप्रेरितकरिए।’’देशकेलोगोंकीरचनात्मकताऔरकलात्मकप्रतिभाकाउल्लेखकरतेहुएमोदीनेतमिलनाडुकेतंजावुरकेएकस्वयंसहायतासमूहद्वाराउन्हेंभेजेगएउपहारकेबारेमेंबातकी।प्रधानमंत्रीनेकहा,‘‘इसउपहारमेंभारतीयताकीसुगंधहैऔरमातृ-शक्तिकाआशीर्वादभी।मुझपरउनकेस्नेहकीभीझलकहै।यहएकखासतंजावुरडॉलहै,जिसेजीआईटैगभीमिलाहुआहै।मैंतंजावुरकेस्वयंसहायतासमूहकोविशेषधन्यवाददेताहूंकिउन्होंनेमुझेस्थानीयसंस्कृतिमेंरचे-बसेइसउपहारकोभेजा।’’मोदीनेकहा,‘‘आप,अपनेक्षेत्रमेंयेपतालगायेंकिकौनसेमहिलास्वयंसहायतासमूहकामकररहेहैं।उनकेउत्पादकेबारेमेंभीआपजानकारीजुटाएंऔरज्यादा-से-ज्यादाइनउत्पादोंकोउपयोगमेंलाएं।ऐसाकरकेआपस्वयंसहायतासमूहकीआयबढ़ानेमेंतोमददकरेंगेही‘आत्मनिर्भरभारतअभियान’कोभीगतिदेंगे।’’मोदीनेइसबातपरभीप्रकाशडालाकिदेशमेंअनगिनतलोगसमाजसेवाकोअपनेजीवनकालक्ष्यबनारहेहैं।प्रधानमंत्रीनेआंध्रप्रदेशकेमर्कापुरमकेरामभूपालरेड्डीकाभीजिक्रकियाजिन्होंनेसेवानिवृत्तिकेबादमिलनेवालीअपनीसारीकमाईबेटियोंकीशिक्षाकेलिएदानकरदी।मोदीनेकहा,‘‘रेड्डीनेकरीब100बेटियोंकेलिए‘सुकन्यासमृद्धियोजना’केतहतखातेखुलवाएऔरउसमेंअपने25लाखसेज्यादारुपएजमाकरवादिये।’’

By Connor