शारीरिक शिक्षा

संजूकुमार,अंबाला

हौसलाबुलंदहोतोआपकोअपनीमंजिलपानेसेकोईभीनहींरोकसकता।अंबालाकेसरबजोतसिंहनेभीअपनेलक्ष्यकोहासिलकरनेकेलिएअलगतरहकाजुनूनऔरजज्बाकमनहींहोनेदिया।लक्ष्यकोहासिलकरनेमेंरुकावटभीआई,लेकिनइरादामजबूतथा।सरबजोतसिंहनेयू-ट्यूबदेखकरशूटिगकीबारीकियोंकोजानाऔरफिरउसमेंअपनाकरियरबनानेकीठानली।सुबह-शामघंटोंमेहनतकरखुदकोमजबूतकिया।आजवहदेशहीनहींविदेशोंमेंपरचमलहरारहाहै।

गांवधीनकेकिसानजितेंद्रसिंहनेअपनेबेटेकोउसकेमुकामपरपहुंचानेकेलिएकोईकसरनहींछोड़ी।सरबजोतकेमामानिशानेबाजथे।जबसरबजोतस्कूलमेंकक्षाछहकाछात्रथा,तबउसेनिशानेबाजीकाशौकचढ़ा।उसनेयू-ट्यूबपरनिशानेबाजीकेतमामजानकारियांहासिलकींऔरशूटिगकीबारीकियोंकोजाना।उसकेबादमामासेकहाकिवहभीनिशानेबाजीमेंकरियरबनानाचाहताहै।उसकेमामानेशूटिगकोचअभिषेकराणासेकीरेंजमेंप्रेक्टिसकराई।

सरबजोतनेसबसेपहलाजिलास्तरपरसिल्वरमेडलहासिलकिया।उसकेबादस्टेटऔरनेशनलमेंमेडलहासिलकरशहरकामानबढ़ाया।गांवसे20किलोमीटरदूरकैंटकीशूटर्सटेरिससेंटरफीनिक्सशूटिगरेंजमेंरोजाना6से8घंटेप्रेक्टिसकरताथा।घरसेसुबहखानालेकरनिकलताथाऔरदेरशामकोवापसलौटताथा।नेशनलमेंगोल्डमेडलहासिलकरनेकेबादवहअपनेलक्ष्यकीओरबढ़नेलगा।यहींसेटीमइंडियामेंचयनहुआ।उसकेबादसरबजोतनेअंतरराष्ट्रीयउडानभरी।

महज18सालकीउम्रमेंसरबजोतनेदेशहीनहींविदेशोंमेंजाकरखुदकोसाबितकरदिखाया।आईएसएसएफव‌र्ल्डशूटिगचैंपियनशिपमेंअचूकनिशानेकेसाथदूसरेदेशोंकेखिलाड़ियोंकोचुनौतीदी।जर्मनी,ताइपेकेसाथ-साथदोहामेंगोल्डमेडललेकरशानसेतिरंगालहराया।10मीटरएयरपिस्टलमेंराष्ट्रीयऔरअंतरराष्ट्रीयस्तरपर12मेडलहासिलकिए।अचूकनिशानालगानेमेंमाहिर

सरबजीतसिंहचंडीगढ़केडीएवीकॉलेजमेंबीएप्रथमवर्षमेंपढ़रहाहै।दैनिकजागरणसेबातचीतमेंउन्होंनेबतायाकिउसनेओलंपिकमेंगोल्डमेडलहासिलकरनाअपनालक्ष्यतयकररखाहै।इसकेलिएवहविदेशोंमेंभीट्रेनिगलेरहाहै।सरबजोतसिंहनेकहाकिमुझेपूरीउम्मीदहैकिओलंपिकमेंमेडललाकरतिरंगालहराऊंगा।साथहीउसनेयुवाओंकोप्रेरणादीकिखेलकोअनुशासनऔरईमानदारीकेसाथखेलें।जबमैंनिशानालगाताहूंतोटारगेटपरहीपूराफोकसरहताहै,प्रतिद्वंदीपरनहीं।बसअपनेइवेंटमेंहमेशाकुछअलगऔरबेहतरकरनाहोताहै,जोमैंनेकिया।अबधीनगांवकीपहचानसरबजोतकेनामसेहोनेलगीहै।गांवकेलोगभीसरबजोतकीइसउपलब्धिसेकाफीखुशहैं।उनकोपूरीउम्मीदहैकिवहओलंपिकखेलोंमेंभीभागलेगाऔरपदकजीतकरतिरंगालहराएगा।

By Daniels